Blog single photo

ऑफिस की कैंटीन में खाना हो सकता है महंगा

कार्यालयों और फैक्ट्रियों में कैंटीन सेवाएं देने वाले बाहरी वेंडरों पर 18 फीसद जीएसटी लगेगा। अथॉरिटी फॉर एडवांस रूलिंग्स (एएआर) ने यह फैसला किया है। बता दें यह व्यवस्था अग्रिम निर्णय प्राधिकरण यानी 'एएआर' ने दी है।

नई दिल्ली ( 22 मई ): कार्यालयों और फैक्ट्रियों में कैंटीन सेवाएं देने वाले बाहरी वेंडरों पर 18 फीसद जीएसटी लगेगा। अथॉरिटी फॉर एडवांस रूलिंग्स (एएआर) ने यह फैसला किया है। बता दें यह व्यवस्था अग्रिम निर्णय प्राधिकरण यानी 'एएआर' ने दी है।एएआर की गुजरात बेंच ने रश्मि हॉस्पिटैलिटी सर्विसेज के आवेदन पर यह आदेश दिया है। आवेदन में पूछा गया था कि कार्यालय की नॉन-एयरकंडीशंड कैंटीन में बिकने वाले सामान पर टैक्स की दर 12 फीसद होगी या 18 फीसदी।एएआर ने कहा कि रश्मि हॉस्पिटैलिटी द्वारा किसी कार्यालय या फैक्ट्री की कैंटीन में कर्मचारियों को भोजन, स्नैक्स, चाय आदि बेचा जा रहा है तो इससे हॉस्पिटैलिटी कंपनी द्वारा दी जा रही सेवाओं की प्रकृति पर कोई असर नहीं पड़ता है। ऐसे में उसे कैंटीन में बिक्री पर 18 फीसद जीएसटी देना होगा।ग्लोबल कंसल्टेंसी फर्म अंर्स्ट एंड यंग के पार्टनर अभिषेक जैन ने कहा कि एएआर के इस फैसले से उद्योगों और कर्मचारियों के लिए नई समस्या पैदा होगी।इससे कर्मचारियों के लिए भोजन की कीमत बढ़ेगी। इससे कारोबारी लागत भी बढ़ेगी क्योंकि इस पर इनपुट टैक्स क्रेडिट भी नहीं मिलेगी।

Tags :

NEXT STORY
Top