नोटबंदी के एक साल: लोगों को आज भी कैशलेस पेमेंट पर नहीं है भरोसा

नई दिल्ली ( 4 नवंबर ): नोटबंदी को एक साल पूरे हो चुके हैं, लेकिन आज भी लोग आॅनलाइन पेमेंट के बजाय कैश से पेमेंट करना आसान समझते हैं। करीब चार साल से डिजिटल लेने देने को बढ़ावा दिया जा रहा है, लेकिन इसके बावजूद भारत बड़ी नकदी अर्थव्यवस्था है। सरकार इस को बदलने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। 

आज डिजिटल रूप से भुगतान करने के लिए एक दर्जन से अधिक तरीके हैं, लेकिन लोगों को अपने बटुए में नकदी रखना आसान लगता है। 20 अक्टूबर 2017 को जारी आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक...   -1,31,81,190 करोड़ कैश सर्कूलेशन में है। 

- भारत में सभी लेनदेन में 5% से कम कैशलेस लेनदेन है।