..तो इन वजहों से देश में कैश की हुई किल्लत ?

नई दिल्ली (19 अप्रैल): पिछले कई दिनों देश के कई हिस्सों में कैश की किल्लत बरकरार है। ATM में कैश नहीं है और बैंक का चेस्ट भी खाली है। ऐसे में सवाल उठता है कि ATM में अचानक से पैसे की कमी क्यों हुई ? जाहिर है बैंक में पैसे नहीं हैं। इसलिए ATM में पैसे नहीं डाले जा रहे हैं। ये हुआ क्यों ? इसकी दो बड़ी वजह सामने आई है। 

पहली वजह ये बताई जा रही है कि देश में हर महीने 19 से 20 हजार करोड़ रुपए की जरूरत होती है। पर इस साल जनवरी से ये मांग दोगुनी हो गई। जनवरी से मार्च तक हर महीने 40 से 45 हजार करोड़ रुपए सप्लाई किए गए। इससे स्टॉक की कमी हुई। अप्रैल में शुरु के 13 दिन में 45 हजार करोड़ रुपए की डिमांड रही। मतलब रोजाना 3 हजार 461 करोड़ रुपए निकले। बताया जा रहा है कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि शादी के सीजन में लोगों को पैसे की ज्यादा जरूरत पड़ी। 

वहीं दूसरी वजह ये बताई जा रही है कि 18 लाख करोड़ की नकदी चलन में है। इनमें से 6 लाख 70 हजार करोड़ 2000 के नोट हैं। लेकिन 2000 के नोट जो बाजार में गए वो वापस बैंक में नहीं आ रहे हैं। इसलिए रुपए की जरूरत के हिसाब से भरपाई नहीं हो पा रही है। मंगलवार को वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा था कि 2000 के नोटों की भरपाई 500 के नए नोटों को ज्यादा से ज्यादा छापकर पूरा कर लेंगे। साथ ही वित्त राज्यमंत्री का कहना है कि कुछ लोग पैनिक क्रिएट करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन उनका सपना पूरा नहीं होगा।