छात्राओं पर गुब्बारे में सीमेन फेंकने के मामले में हुआ नया खुलासा

नई दिल्ली (18 अप्रैल): दिल्ली में होली के दौरान दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्राओं पर सीमेन फैंकने को लेकर केस दर्ज किया गया था। जिसके बाद छात्रा के कपड़ों को फॉरेंसिंक जांच के लिए भेजा गया था, लेकिन फॉरेंसिक जांच में सीमेन की कोई भी बात सामने नहीं आई है। यहां तक की पीड़िता के कपड़ों से सीमेन का कोई धब्बा तक नहीं मिला है। बता दें, एक छात्रा ने ग्रेटर कैलाश थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ अज्ञात लोगों ने उस पर वीर्य से भरे हुए गुब्बारे फेंके।

देश में होली का माहौल था। ऐसे में यह खबर सामने आई कि दिल्ली विश्वविद्यालय की दो लड़कियों पर सीमन से भरे गुब्बारे फेंके गए हैं। लड़कियों ने यह बात रखने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया था। पुलिस ने केस दर्ज किया था और जांच शुरू कर दी थी। अब पुलिस को जांच रिपोर्ट मिली है जिसमे साफ हुआ है कि कपड़ों पर मिले दाग़ या निशान सीमन के नही हैं।

गौरतलब है कि 28 फरवरी को एलएसआर कॉलेज की दो छात्राओं पर सीमेन से भरे गुब्बारे फेंकने के मामले सामने आए थे। छात्राएं एम-ब्लाक मार्केट , ग्रेटर कैलाश से ऑटो से लौट रही थीं। जब वह जमरूदपुपर के नजदीप पार्क केपास पहुंची तो किसी ने उन पर गुब्बारे फेंके थे। छात्राओं ने सोशल मीडिया पर दावा किया था कि उनके ऊपर सीमेन से भरे गुब्बारे फेंके हैं। मामला पुलिस केसंज्ञान में आया तो ग्रेटर कैलाश-एक थाना पुलिस ने मामला दर्जकर छात्राओं केकपड़े और मौके से सैंपल लिए थे।