कोहली की कप्तानी पर द.अफ्रीका के पूर्व कोच ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली(6 फरवरी): साउथ अफ्रीका के पूर्व  कोच रे जेनिंग्स का मानना है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली एक कप्तान के रूप में फिलहाल बेस्ट नहीं हैं। जेनिंग्स के मुताबिक, कोहली ड्रेसिंग रूम में दबदबा बनाने वाले हो सकते हैं और यह बेहतरीन होगा अगर उन्हें एक अच्छा मार्गदर्शक मिले, जो नेतृत्वकर्ता के रूप में उनकी क्षमता को अधिकतम कर सके। जेनिंग्स ने कोहली की प्रगति को अंडर 19 दिनों से देखा है, जब वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कोच थे।

जेनिंग्स ने कहा, 'मुझे लगता है कि एक कप्तान के रूप में वह अब भी अपने सर्वश्रेष्ठ स्तर पर नहीं है। भारतीय क्रिकेट प्रणाली को विराट कोहली को बेहतर करना होगा। महेंद्र सिंह धोनी के दौर से कोहली के दौर में बहुत अधिक बदलाव आया है। धोनी इतना धैर्यवान है और कोहली पूरी तरह से इसका उलट। वह ड्रेसिंग रूम में डर पैदा करने वाला हो सकता है और कभी कभी टीम के साथी हैरान होते होंगे कि कोहली असल में कौन है।' 

जेनिंग्स का मानना है कि कोहली युवा खिलाड़ी में डर पैदा कर सकते हैं और यही कारण है कि उन्हें एक धैर्यवान मेंटर की जरूरत है। उन्होंने कहा, 'ड्रेसिंग रूम में डर का माहौल हो सकता है और इतने सारे युवा खिलाड़ियों के टीम में जगह बनाने के कारण आप ऐसा नहीं चाहोगे। भारतीय क्रिकेट को इसलिए ऐसा व्यक्ति ढूंढना होगा, जो कोहली को सुधार करने के लिए प्रभावित कर सके और उसे और अधिक बेहतर कप्तान बनाए।' 

लेकिन जेनिंग्स ने कहा कि आयु बढ़ने के साथ कोहली बेहतर होगा। उन्होंने कहा, 'आयु बढ़ने के साथ नैसर्गिक रूप से कोहली बेहतर और धैर्यवान होगा। वह हमेशा इतना आक्रामक नहीं रहेगा। लेकिन कई हालात में जब चीजें इतनी शांत नहीं होंगी या ड्रेसिंग रूम से डर हटाने के लिए, कोहली को कौन बेहतर होना सिखाएगा।' जेनिंग्स ने कहा, 'वह इतन समझदार और जज्बे वाला है कि बदलाव को स्वीकार करे। वह सर्वश्रेष्ठ बनना चाहता है और उसमें दुनिया की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने का कौशल है, लेकिन इसके बावजूद उसे कुछ सहायता की जरूरत है।' 

कोहली ने डरबन में 33वां एकदिवसीय शतक जड़ा, जबकि इससे पहले वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में शीर्ष स्कोरर रहे थे। जेनिंग्स ने कहा, 'इस आयु में वह पहले ही 33 वनडे अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ चुका है और वनडे क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ (सचिन तेंडुलकर) के करीब है। उसके अंदर कम से कम 10 और साल का खेल बचा है इसलिए कोई कारण नहीं है कि 3 से 4 साल में वह और बेहतर नहीं हो।' 

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि किसी भी बल्लेबाज के लिए 32 सर्वश्रेष्ठ उम्र होती है और वह अभी वहां तक पहुंचा भी नहीं है इसलिए आप 33 में कुछ और शतक जोड़ सकते हो।' अंडर 19 वर्ल्ड कप 2008 में साउथ अफ्रीका के कोच रहे जेनिंग्स ने कहा, 'जब भारत ने (2008 में) उसकी अगुआई में अंडर 19 वर्ल्ड कप जीता तो मैं साउथ अफ्रीका अंडर 19 टीम का कोच था। उस समय भी मुझे लगा था कि बल्लेबाजी के मामले में वह अपने आयु समूह में शीर्ष पर होगा।' उन्होंने कहा, 'मैंने जिन्हें खेलते हुए देखा उनमें वह स्पिन के खिलाफ सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी है। क्या वह सर डॉन ब्रैडमैन से बेहतर है। मुझे नहीं पता लेकिन निश्चित तौर पर