पंपोर एनकाउंटर में कैप्टन शहीद, आर्मी डे के दिन हुआ था जन्म

नई दिल्ली(21 फरवरी): जम्मू-कश्मीर के पंपोर में जारी एनकाउंटर में 23 साल के कैप्टन पवन कुमार शहीद हो गए। शुरू से ही देश के लिए कुछ करने का जज्बा रखने वाले कैप्टन पवन कुमार का जन्म आर्मी डे यानी 15 जनवरी को हुआ था। वे हरियाणा के जिंद में जन्मे थे। 

उनके पिता राजबीर सिंह ने कहा कि मैंने देश के लिए अपने एक बेटे को न्योछावर कर दिया। वह आर्मी के लिए ही बना था। कैप्टन के पिता ने कहा कि जहां पवन जख्मी हुए, वहां कुछ दिनों पहले वे दो बार कामयाब ऑपरेशन कर चुके थे। वहां उन्होंने तीन आतंकी मारे गिराए थे। 

आर्मी के प्रवक्ता के मुताबिक आतंकियों ने पहले श्रीनगर की तरफ जा रही सीआरपीएफ की बस पर फायरिंग की। इसके बाद आतंकी पास की एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट की बिल्डिंग में घुस गए और फायरिंग शुरू कर दी। 10 पैरा रेजिमेंट के कैप्टन पवन कुमार वहां लीड कर रहे थे।

फायरिंग के दौरान कैप्टन को गोली लगी थी और रविवार को इलाज के दौरान वे शहीद हो गए।