पंजाब सरकार का बड़ा फैसला, मुख्यमंत्री, मंत्री और अफसर नहीं लगाएंगे लाल बत्ती


चंडीगढ़ (18 मार्च): पंजाब में मुख्यमंत्री की पद का कमान संभालते ही कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार एक्शन में आ गई है। शुक्रवार को सरकार की गठन के बाद आज चंडीगड़ में कैप्टन अमरिंदर सिंह कैबिनेट की बैठक हुई। बैठक में कई सरकार ने कई अहम फैसले लिए। इस बैठक में फैसला लिया गया कि पंजाब के CM, तमाम कैबिनेट, राज्य मंत्री और तमाम MLA अपनी सरकारी गाड़ियों पर लाल बत्ती या अन्य कोई बत्ती नहीं लगाएंगे। 


पंजाब कांग्रेस ने अपने मेनिफेस्टो में इलेक्शन के दौरान वायदा किया था कि पंजाब में सरकार बनने पर लाल बत्ती और VIP कल्चर खत्म किया जाएगा। इसी कड़ी में ये अहम फैसला कैबिनेट में लिया गया है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट करके भी कैबिनेट के फैसले की जानकारी दी।


इस बैठक में राज्य के आर्थिक मामले, किसान कर्ज और नशे  सहित 318 मुद्दों पर प्रमुख रूप से चर्चा हुई। बैठक में एक्साइज पॉलिसी की नई नीति को मंजूरी दी गई। इसके साथ-साथ किसानों के कर्ज माफी के लिए सब कमेटी बनाई गई।  बैठक में VIP कल्चर खत्म करने की ओर कदम बढ़ाते हुए फैसला लिया गया कि मुख्यमंत्री सहित किसी भी मंत्री की गाड़ी पर लाल बत्ती नहीं लगेगी। शाराब माफियों पर नकेल कसते हुए कहा गया कि 500 मीटर तक नैशनल तथा स्टेट हाईवे पर बने ठेकों पर रोक लगाई गई। वहीं भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए डीटीओ के पदों को समाप्त कर दिया गया।