निजता और पारदर्शिता के बीच संतुलन बनाना है ज़रूरी: जेटली

नई दिल्ली (3 सितंबर): वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पारदर्शिता और निजता के बीच संतुलन को ज़रूरी बताते हुए कहा है कि लोग संदिग्ध नकद लेनदेन की जानकारी छिपाने के लिए निजता का हवाला नहीं दे सकते। जेटली ने कहा कि निजता के नाम पर कानून का उल्लंघन नहीं हो सकता है। गौरतलब है, सुप्रीम कोर्ट ने निजता को मौलिक अधिकार करार दिया है।