समिति ने की सिफारिश, 856 डेंटल छात्रों का दाखिला हो रद्द

नई दिल्ली ( 24 जनवरी ): मध्य प्रदेश में डेंटल काॅलेज के 800 से अधिक छात्रों के एडमिशन को अवैध पाया गया और उनके एडमिशन को रद्द कर दिया गया है। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की जबलपुर बेंच के आदेश पर एक चार सदस्यीय समिति का गठन किया था। इस समिति ने पाया कि डेंटल काॅलेज के 800 से अधिक छात्रों का एडमिशन अवैध तरीके से हुआ है और उसने इन छात्रों के एडमिशन को रद्द करने की सिफारिश की थी।

जबलपुर बेंच ने 16 दिसंबर, 2016 को समिति गठित की थी। समिति ने कहा कि इन छात्रों का एडमिशन प्रवेश परीक्षा के माध्यम से नहीं हुआ है, बल्कि 12 बोर्ड की परीक्षा के अंक आधार पर शार्टलिस्ट है।

छात्रों ने डेंटल काउंसिल आॅफ इंडिया में इनके एडमिशन को चुनौती थी कि इनका बिना किसी प्रवेश परीक्षा के एडमिशन हुआ है और उनके एडमिशन को रद्द किया जाए। यह निर्णय इसी के फैसले के बाद आया है।