सड़क किनारे बैठ सोनू निगम गाते रहे गाना, कोई पहचान नहीं पाया

नई दिल्ली(18 मई): पिछले दो दशकों से भारतीय गीत-संगीतप्रेमियों को अपनी सुरीली आवाज़ से आनंदित करते आ रहे बॉलीवुड पार्श्वगायक सोनू निगम कभी आपके सामने गाएं, और आप पहचान न पाएं, इसके आसार कम ही नज़र आते है, लेकिन फिर भी ठीक यही हुआ, जब मुंबई के जुहू इलाके में एक वेब वीडियो के लिए सोनू वेश बदलकर सड़क पर आए, और गाते रहे।

मज़े की बात यह है कि उनकी मदहोश कर देने वाली आवाज़ सुनकर भीड़ इकट्ठी हुई, कुछ ने उनसे बातें भी कीं, लेकिन कोई भी उन्हें सोनू निगम के रूप में पहचान नहीं पाया। 'द रोडसाइड उस्ताद' (The Roadside Ustaad) शीर्षक द्वारा यूट्यूब पर मंगलवार को अपलोड किया गया यह वीडियो दरअसल एक सोशल एक्सपेरिमेंट था, जिसके तहत एक 'बूढ़े' आदमी के सड़क पर बैठकर गाने को लेकर राहगीरों की प्रतिक्रिया देखी गई। वीडियो में देखा जा सकता है कि लोगों ने मिली-जुली प्रतिक्रियाएं दीं।  कुछ ने रुककर गीत का आनंद लिया, कुछ बिना रुके चले गए, लेकिन एक बात सभी में एक जैसी रही - सोनू निगम को कोई भी नहीं पहचान पाया।

इस पहल के बारे में सोनू निगम ने एक बयान में कहा, "मैं जब इस वीडियो में काम करने को तैयार हुआ, कोई उम्मीद नहीं बांधी थी, यह भी परवाह नहीं की थी कि मैं दिख कैसा रहा हूं, या खुद को किन हालात में डाल रहा हूं... पहला मौका था, जब मैं दरअसल मैं था ही नहीं। मेकअप इतना बढ़िया और सटीक था कि जो लोग मेरे बेहद करीब खड़े थे, वे भी मुझे नहीं पहचान पाए। "

वीडियो में सोनू निगम के हाथ में एक हारमोनियम दिखाई दे रहा है, और सोनू के मुताबिक यह वही हारमोनियम है, जो उनकी पैदाइश के वक्त उनके माता-पिता ने खरीदा था। सोनू ने कहा, "यह अनुभव बेहद अभिभूत करने वाला था और इससे मुझे बहुत कुछ हासिल हुआ। इससे एहसास हुआ कि हमारे पास जो कुछ भी है, उसके लिए हमें ईश्वर का आभारी होना चाहिए।"

कल्चर मशीन ('बीइंगइंडियन' इन्हीं का डिजिटल चैनल है) के क्रिएटिव डायरेक्टर कार्ल कटगरा ने वीडियो को बनाए जाने की वजह पर रोशनी डालते हुए कहा, "इस एक्सपेरिमेंट के पीछे हमारा विचार लोगों को इस बात के लिए प्रेरित करना था कि व्यस्त ज़िन्दगी में से संगीत की खूबसूरती का आनंद लेने का वक्त ज़रूर निकालें और ऐसा करने के लिए सोनू निगम से बेहतर कौन हो सकता है। आज वह देश के सबसे ज़्यादा पसंद किए जाने वाले गायक हैं, और उनकी आवाज़ सबसे ज़्यादा पहचानी जाने वाली। सबसे दिलचस्प बात यही रही कि उन्होंने बूढ़े के वेश में वही जादुई माहौल तो अपनी आवाज़ से बना दिया, लेकिन कोई भी उन्हें हरगिज़ पहचान नहीं पाया। "

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=nlLXMueFepI[/embed]