क्या सीएनजी वेरिएंट बढ़ा पाएगा केयूवी-100 की ब्रिक्री ?

महिन्द्रा ने केयूवी-100 को पिछले साल जनवरी महीने में लॉन्च किया था, उस दौरान इसने अच्छी शुरूआत की और पहले ही महीने में इसे 21,000 बुकिंग मिल गईं। बाद में इसकी मांग कम होती गई और इस कार से फैंस और कंपनी को जितनी उम्मीदें थीं उस पर यह खरी नहीं उतर पाईं। साल 2016 के अंत में तो केयूवी-100 के हाल ये थे कि इसकी करीब 1000 यूनिट ही बेची जा सकीं।

साल 2016 के अंत में महिन्द्रा केयूवी-100 का सीएनजी अवतार टेस्टिंग के दौरान कैमरे में कैद हुआ। केयूवी-100 के सीएनजी वेरिएंट के जरिये महिन्द्रा की कोशिश महानगरों के अलावा ऐसे छोटे शहरों के ग्राहकों को लुभाने की है, जहां सीएनजी उपलब्ध है। क्या सीएनजी अवतार में आने के बाद केयूवी-100 की मांग में इज़ाफा होगा ?, जानने के लिए बढ़ते हैं आगे...

डीज़ल कारों के प्रति घटती रूचि

महिन्द्रा केयूवी-100 में 1.2 लीटर का पेट्रोल और डीज़ल इंजन इंजन लगा है। जब बात हो छोटी कार की तो अमूमन भारतीय ग्राहक पेट्रोल इंजन लेना ज्यादा पसंद करते हैं और पिछले साल बड़े इंजन वाली डीज़ल कारों पर लगे बैन के बाद से डीज़ल कारों के प्रति ग्राहक आशंकित हो गए हैं। ऐसे में सीएनजी वेरिएंट के आने के बाद स्थिति संभल सकती है।

लागत

आमतौर पर डीज़ल इंजन वाली कारें पेट्रोल इंजन वाली कारों की तुलना में करीब 1 लाख रूपए तक महंगी होती हैं, जबकि सीएनजी किट के लिए करीब 40,000 रूपए ही ज्यादा खर्च करने होते हैं। ऐसे में सीएनजी किट सस्ती पड़ती है, दूसरा सीएनजी दिल्ली-मुंबई जैसे बड़े शहरों के अलावा कई अन्य छोटे शहरों में भी आसानी से उपलब्ध है।

कैब सेगमेंट

महिन्द्रा केयूवी-100 को कैब सेगमेंट में देखा जा सकता है। केबिन में काफी जगह मौजूद होने कारण इसमें पांच लोग आराम से बैठ सकते हैं।  

यह 6-सीटर में भी उपलब्ध है, इसके आगे वाली सीट पर भी तीन व्यक्ति बैठ सकते हैं। सीएनजी वेरिएंट आने के बाद टैक्सी/कैब ऑपरेटर्स से इसे बिक्री के अच्छे आंकड़े मिल सकते हैं।

कंपनी के लिए भी आसान

जहां हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक व्हीकल के प्रोडक्शन में कंपनी को मेहनत करनी पड़ती है, वहीं सीएनजी के लिए कोई ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती। सीएनजी किट को जोड़ना आसान है। केयूवी-100 के पेट्रोल वेरिएंट में 1.2 लीटर का एम-फॉल्कन जी80 पेट्रोल इंजन लगा है, जो 83 पीएस की पावर और 115 एनएम का टॉर्क देता है। इस में सीएनजी किट जोड़ना ज्यादा आसान है।

कारदेखो

क्या सीएनजी वेरिएंट बढ़ा पाएगा केयूवी-100 की ब्रिक्री ?