मोदी-ममता की आक्रामक रैली के बाद बंगाल में थमा चुनाव प्रचार, 19 मई को वोटिंग

न्यूज 24 ब्यूरो, मुंबई (16 मई): पश्चिम बंगाल में आखिरी दौर की नौ सीटों के लिए चुनाव प्रचार का शोर बृहस्पतिवार रात दस बजे थम गया। चुनाव आयोग ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा व आगजनी को ध्यान में रखते हुए राज्य में चुनाव प्रचार के समय में 20 घंटे कटौती कर दी थी। नतीजतन तमाम दलों का चुनाव अभियान शुक्रवार शाम छह बजे की बजाय आज रात ही थम गया। 

-प्रचार के आखिरी दिन पीएम मोदी ने जहां राज्य में दो रैलियों को संबोधित किया, वहीं ममता बनर्जी ने कई सभाएं और एक रोडशो के जरिए मतदाताओं को साधने की कोशिश की। बता दें कि चुनाव आयोग ने बुधवार को राज्य में एक दिन पहले ही चुनाव प्रचार खत्म करने का फैसला किया था।-आयोग ने बुधवार को संविधान के अनुच्छेद 324 का पहली बार इस्तेमाल करते हुए ऐलान किया था कि राज्य में तय अवधि से एक दिन पहले ही चुनाव प्रचार खत्म कर दिया जाएगा। पहले यह शुक्रवार शाम पांच बजे खत्म होना था लेकिन आयोग के निर्देश के मुताबिक, गुरुवार रात 10 बजे के बाद से किसी भी ढंग से कोई भी राजनीतिक दल चुनाव प्रचार नहीं कर सकता। बता दें कि लोकसभा चुनाव के -सातवें और आखिरी चरण के लिए पश्चिम बंगाल की 9 लोकसभा सीटों पर 19 मई को मतदान होना है।

-विपक्ष ने चुनाव आयोग के इस फैसले पर सवाल उठाए हैं। आम आदमी पार्ट के नेता अरविंद केजरीवाल ने आयोग की निंदा करते हुए पूछा है कि क्यों आयोग ने पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों खत्म होने के बाद चुनाव प्रचार रोकने का आदेश दिया? एसपी प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि यह निष्पक्ष लोकतांत्रिक प्रक्रिया के खिलाफ है।