UP में भूमाफियाओं की अब खैर नहीं, दिसंबर से शुरू होगा मुक्ति का अभियान

नई दिल्ली(23 नवंबर): उत्तर प्रदेश में भूमाफियाओं के कब्जे से जमीनों को मुक्त कराने के लिए दिसंबर से अभियान की शुरुआत होगी। इसका ऐलान खुद सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया।  प्रदेश में 43 हजार हेक्टेयर से ज्यादा जमीन माफियाओं के कब्जे में है। 

-  इसके लिए विशेष रूप से गठित एंटी लैंड माफिया टास्क फोर्स दिसंबर से सक्रिय हो जाएगा। इसके सक्रिय होते ही भू-माफिया के कब्जे से जमीनें मुक्त होने लगेंगी। इलाहाबाद के भारत स्काउट गाइड इंटर कॉलेज में पार्टी के नगर निकाय प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभा के दौरान उन्होंने यह बातें कहीं।  

- सीएम ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता प्रदेश में कानून-व्यवस्था का राज कायम करना था। पिछले 8 महीने में सरकार इसमें काफी हद तक सफल भी रही है। अब प्रदेश के विकास और युवाओं को रोजगार उपलब्ध करवाने पर फोकस होगा। जो भर्तियां किसी कारणवश नहीं शुरू हो सकी थीं, उन्हें शुरू किया जाएगा। 

- योगी ने कहा कि माफिया से निबटते हुए भी हमने 8 महीने में 11 लाख मकान गरीबों को दिए जबकि समाजवादी पार्टी की सरकार ने 5 वर्ष में सिर्फ 29 हजार मकान दिए थे। सभा में डेप्युटी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, नंद गोपाल गुप्ता नंदी, डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, सांसद श्यामाचरण गुप्त, वीरेन्द्र सोनकर, वीरेन्द्र सिंह मस्त आदि मौजूद थे। 

- योगी ने कहा, आपदाओं की रोकथाम के लिए प्रदेश में एनडीआरएफ से अलग एसडीआरएफ का गठन करने की प्रक्रिया चल रही है। यह आग, बाढ़ समेत ऐसी ही आपदाओं से लोगों को जागरूक करने के साथ ही उनकी मदद भी करेगी। 

- सीएम की रैली में पहुंचे प्रतियोगी छात्रों ने उन्हें प्लेकार्ड के जरिए अपनी मांगें दिखाईं। उनके भाषण के दौरान प्रतियोगी छात्र रुकी भर्तियां शुरू करने की मांग करने लगे तो सीएम ने उन्हें आश्वस्त किया कि दिसंबर से सभी भर्तियां शुरू की जाएंगी। प्रदर्शन करने वालों में 12,460 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी सबसे ज्यादा थे।