भारत के उच्च शिक्षा संस्थानों का पाठ्यक्रम अपग्रेड करेंगे कैम्ब्रिज, MIT

नई दिल्ली (3 जून): केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने देश में उच्च शिक्षा के संस्थानों के पाठ्यक्रम डिजाइन और उनका स्तर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का करने के लिए विश्व के जाने माने संस्थानों की मदद लेने का फैसला किया है। जिनमें कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी, एमआईटी पेनिस्लेवेनिया शामिल हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने इसकी जानकारी दी।

'न्यू इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (आरयूएसए) के तहत स्मृति ईरानी ने बताया कि यूनिवर्सिटी ऑफ इडिनबर्ग, एमआईटी, कैम्ब्रिज, यूनिवर्सिटी ऑफ पेनिस्लेवेनिया, यूसी बर्केले, यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन, यूनिवर्सिटी ऑफ जॉर्जिया टेक आदि को करिकुलम अपग्रेड करने के लिए लगाया है। जिनमें सोशल साइंसेस, साइंसेस, मैथेमैटिक्स और इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रम शामिल हैं।

ईरानी ने कहा, "भारत सरकार कई इंटरनेशनल फैकल्टी, एकेडमीशियन्स और इंस्टीट्यूशन्स के साथ संपर्क में है। जो आरयूएसए के जरिए छात्रों के लाभ के लिए करिकुलम को अंतर्राष्ठ्रीय स्तर का करने में मदद करेगी।" 

ईरानी ने कई दूसरे प्रोजेक्ट्स को भी लॉन्च किया। आंध्र प्रदेश के कुरनूल, छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव में मॉडल डिग्री कॉलेज, अमृतसर में बॉयस हॉस्टल शामिल हैं। उन्होंने टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के जरिए छात्रों के बातचीत भी की।