महिला को 'बेबी' या 'हनी' कहने पर हो सकती है जेल

नई दिल्ली (11 मार्च) :  किसी महिला को 'बेबी' या 'हनी' कहने पर जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है। उत्तराखंड राज्य महिला आयोग युवा पीढ़ी को ऐसी जानकारियां देने के लिए स्कूल-कॉलेजों में कैंप लगाने की योजना पर काम कर रहा है। ऐसे कैंप का उद्देश्य महिलाओं के खिलाफ हिंसा या यौन उत्पीड़न को रोकने के लिए युवा पीढ़ी को हर पहलू से जागरूक करना है।

आयोग की चेयरपर्सन सरोजिनी कैंत्युरा ने कहा कि अधिकतर महिलाएं इस तरह के आपत्तिजनक बर्ताव की अनदेखी कर देती हैं। लेकिन उन्हें मानसिक पीड़ा से गुज़रना पड़ता है। दिक्कत ये है कि कुछ लोग ये तक नहीं समझते कि किस तरह का बर्ताव उत्पीड़न या हिंसा माना जा सकता है।  

उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि लड़के जानें कि लड़कियों से किस तरह पेश आ चाहिए। लड़कियों को भी ये समझना चाहिए कि लड़के कहां सीमा पार कर रहे हैं।

आयोग के पास अप्रैल से दिसंबर 2015 तक 1,118 शिकायतें आई हैं। इनमें से अधिकतर शिकायतें उत्पीड़न मामलों की थीं।

महिलाओं की निजी ज़िंदगी के बारे में अफवाहें फैलाना, आपत्तिजनक टिप्पणियां करना, चुटकुले बनाना, अश्लील चित्र या मैसेज भेजना, ये सब उत्पीड़न के अंतर्गत आता है।

चेयरपर्सन ने कहा कि इन कैंपों में युवा पीढ़ी को महिलाओं से जुड़े क़ानूनों के बारे में जानकारी दी जाएगी। मसलन आईपीसी की धारा 509 के तहत अश्लील इशारे या टिप्पणी करने पर एक साल की सज़ा हो सकती है।