हाईकोर्ट से ममता बनर्जी को झटका, नई तारीखों पर पंचायत चुनाव कराने का आदेश

नई दिल्ली (20 अप्रैल): कोलकाता हाईकोर्ट ने पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने की समय-सीमा बढ़ाने की अधिसूचना को निरस्त करने के राज्य निर्वाचन आयोग के आदेश को रद्द कर दिया। इसके साथ ही नई अधिसूचना जारी करके नामांकन स्वीकार करने का निर्देश दिया।

कोर्ट ने चुनाव आयोग के पंचायत चुनाव के फैसले को रद्द कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि आयोग चुनाव की नई तारीखों का ऐलान करे, साथ ही नामांकन प्रक्रिया को लेकर नई अधिसूचना जारी की जाए। पंचायत  चुनाव अब नई तारीखों के आधार पर आयोजित कराए जाएं।

#WestBengal Panchayat Election matter: The Calcutta High Court sets aside its earlier order and directs State Election Commission to issue fresh extension for filing of nomination and polls in consultation with the state.

— ANI (@ANI) April 20, 2018

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने माकपा, कांग्रेस और बीजेपी पर राज्यों में पंचायत चुनाव प्रक्रिया में जानबूझ कर देरी करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि माकपा, कांग्रेस और बीजेपी तीन भाई हैं। जो नई दिल्ली में एक भूमिका में नजर आते हैं और पश्चिम बंगाल में दूसरी भूमिका निभाते हैं। वे अफवाह फैला रहे हैं और टीवी पर अपने चेहरे दिखाने के लिए ये सब करते हैं।

उल्लेखनीय है कि बीजेपी ने 6 मार्च को कोलकाता हाईकोर्ट से कहा था कि पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है क्योंकि सत्तारूढ़ दल व्यापक पैमाने पर चुनावी हिंसा में लिप्त है और आगामी पंचायत चुनाव के लिए विपक्ष के उम्मीदवारों को नामांकन नहीं करने दिया जा रहा है।