अब नहीं उठेंगी EVM पर अंगुलियां, कैबिनेट ने दी VVPAT मशीन खरीदने की मंजूरी

नई दिल्ली (19 अप्रैल): मोदी कैबिनेट आज एक और महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए वोटर वैरिफियेबल पेपर ऑडिट ट्रैल मशीन को मंजूरी दे दी है। इस मशीन से वोट डालने के बाद एक चिट निकलती है जिस पर वोट डाले गये प्रत्याशी का चिन्ह अंकित रहता है। यह चिट 7 सेकेंड्स तक मशीन से जुडी रहती है और फिर साथ में रखे डिब्बे में गिर जाती है। इसका उद्देश्य यह होता है कि मतदाता को पता चल जाये कि वोट उसी प्रत्याशी को गया है जिसको वो देना चाहता था। इस मशीन की खरीद को मंजूरी देने के बाद अब ईवीएम से जुड़ी सभी शंकाये खत्म हो जायेंगी। इन मशीनों की खरीद के लिए निर्वाचन आयोग ने सरकार से जून 2014 में मांग की थी। और तब से निर्वाचन आयोग ने 11 बार रिमाइंडर भी दिया था।