खबरदार: अब सड़क पर Rules तोड़े तो देना होगा मोटा जुर्माना

डॉ. संदीप कोहली, नई दिल्ली (4 अगस्त): केंद्र सरकार ने लंबे इंतजार के बाद कल मोटर व्हीकल एक्ट (संशोधन) 2016 को मंजूरी दे दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में यह मंजूरी दी गई है। सड़क यातायात की सुरक्षा को ग्लोबल स्टैंडर्ड का बनाने के लिए एक्ट में संशोधन किए गए हैं। अब गाड़ी चलाते समय नियमों को तोड़ने पर भरना होगा भारी जुर्माना। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इसे ऐतिहासिक कदम बताया है। यह प्रस्ताव 18 राज्यों के परिवहन मंत्रियों की सिफारिश पर तैयार किया गया है। जानिए अब कानून तोड़ा तो कितना भरना पड़ेगा जुर्माना...

अब सड़क पर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन किया तो भरना होगा 10 गुना ज्यादा जुर्माना...

वर्तमान मोटर वाहन कानून में 223 सेक्शन हैं, इनमें से इस विधेयक में 68 में संशोधन और 28 नए सेक्शन जोड़ने का प्रावधान है।   सीट बेल्ट- जुर्माना राशि 100 रुपए की बजाय अब 1000 रुपए होगी। बिना हेल्मेट- जुर्माना राशि 100 रुपए की बजाय अब 1000 रुपए होगी और ड्राइविंग लाइसेंस 3 महीने के लिए होगा रद्द।  बिना लाइसेंस- अब 500 रुपए की जगह 5,000 रुपए जुर्माना देना होगा। तेज गति- तय सीमा से ज्यादा स्पीड पर जुर्माना राशि 400 की बजाय 1 हजार से 4 हजार रुपए तक देनी होगी। खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाना- अब 1000 रुपए की जगह 5000 रुपए का जुर्माना देना होगा।  शराब पीकर गाड़ी चलाना- अब 2000 की जगह 10,000 रुपए जुर्माना लगेगा, साथ ही 3 महीने के लिए लाइसेंस रद्द। बिना इंश्योरेंस गाड़ी चलाना- अब 2,000 रु. जुर्माना और/या तीन महीने की जेल।  अयोग्य घोषित होने के बावजूद गाड़ी चलाना- पर न्यूनतम 10,000 रुपए जुर्माना। 

नाबालिग द्वारा गाड़ी चलाना- नए एक्ट के तहत सड़कों पर हिट एंड रन के मामलों को सरकार ने बेहद गंभीरता से लिया है... # अब अगर सड़क हादसा किसी नाबालिग की वजह से हुआ तो हादसे के लिए नाबालिग के माता पिता या गाड़ी के मालिक को दोषी माना जाएगा।  # गाड़ी का रजिस्ट्रेशन तो रद्द होगा ही, साथ में 25,000 रुपए जुर्माने के साथ-साथ 3 साल के लिए जेल भी जाना पड़ सकता है। # यही नहीं हिट एंड रन मामलों में पीड़ित को मुआवजा राशि 25 हजार रुपए से बढ़ाकर दो लाख रुपए कर दी गई है। # जबकि सड़क हादसे में मौत पर पीड़ित के परिवार को अब 10 लाख रुपये का मुआवजा मिलेगा।

कमर्शियल वाहन- गाड़ी ओवरलोड होने पर 20,000 रुपए का जुर्माना होगा।  #ट्रांसपोर्ट वाहनों की अक्टूबर 2018 से ऑटोमेटेड फिटनेस टेस्टिंग होगी, इससे भ्रष्टाचार रुकेगा।  #लाइसेंस की शर्तें तोड़ने पर एक लाख रुपए वसूले जाएंगे। बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने पर 5000 रुपए जुर्माना। 

सड़क हादसों पर NCRB और सड़क-परिवहन मंत्रालय के आकंड़े क्या कहते हैं... 

- भारत में हर साल आइसलैंड या मालदीव जैसे देशों की कुल आबादी की आधी के बराबर जनसंख्या सड़क हादसों की बलि चढ़ जाती है। - पूरी दुनिया के मुकाबले सबसे ज्यादा सड़क दुर्घटनाएं भारत में होती हैं। - 2015 में भारत में 5 लाख सड़क हादसों में 1.46 लाख लोग सड़क हादसों का शिकार हुए।  - वहीं चीन में 70 हजार, ब्राजील में 36 हजार और अमेरिका में 33 हजार लोगों की मौत हुई थी।  - देश भर में सड़कों पर हादसों की वजह से रोजाना 400 लोग अपनी जान गंवाते हैं। - देश में सड़क हादसों के कारण हर घंटे 19 या हर 3 मिनट पर 1 व्यक्ति की मौत होती है। - देश में हर मिनट एक सड़क दुर्घटना घटती है। 41 फीसदी हादसे तेज गति की वजह से होते हैं। - 2014 के मुकाबले 2015 में सड़क हादसों में 5 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। - 2015 में सड़क हादसों में मरने वालों की संख्या 1 लाख 46 हजार थी। - देश में उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 17,666 मौत हुई, उसके बाद तमिलनाडू का नंबर है 15,642 मौत - महाराष्ट्र 13,212, कनार्टक 10,856 और राजस्थान में 10,510 लोगों की मौत हुई। - देश में 16 फीसदी मौते कार दुर्घटना में और 32 फीसदी मौते टू-विह्लर दुर्घटना में होती हैं। - भारत में कुल वाहन- लगभग 11 करोड़ 50 लाख हैं। - सड़क दुर्घटनाओं से देश को हर साल 550 अरब रुपए का नुकसान होता है। - वाहन चालकों द्वारा ट्रैफिक नियमों को लेकर बरती जाने वाली लापरवाही देश में 78 फीसद सड़क दुर्घटनाओं के लिए जिम्मेदार है। - लापरवाही जनित इन दुर्घटनाओं का शिकार होने वाले अधिकतर लोग 25 से 40 वर्ष के आयु समूह के होते हैं।