CEO के नाम से सिर्फ 1 मेल और हो गई लाखों की ठगी

नई दिल्ली ( 5 जनवरी ): यदि आप किसी कंपनी में काम करते हैं और उस कंपनी के सीईओ के नाम से पैसे ट्रांसफर करने के लिए मेल आ जाये तो सावधान हो जाएं! कहीं ऐसा न हो कि आप और आपकी कंपनी लाखों की ठगी का शिकार हो जाए। क्योंकि दिल्ली के साउथ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के साईबर सेल की टीम ने ठगी के ऐसे ही हाईप्रोफाइल मामले में एक विदेशी और उसके साथी को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस की गिरफ्त में आया 5वीं पास अमित गुप्ता अफ्रीकन मूल के एक नागरिक के साथ मिलकर इस तरह की ठगी की वारदत को अंजाम देता था। अफ्रीकन नागरिक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर है और टेक्नोलॉजी में एक्सपर्ट है। इसी वजह से ये लोग कंपनी का डिटेल लेकर उस कंपनी के CEO के नाम से मेल भेजकर लाखों की चीटिंग करते थे। ऐसा ही एक मामला हाल में कालकाजी थाना में आया और उस मामले में चीटिंग का मामला दर्ज किया गया था।

नेहरू प्लेस स्थित एक मल्टी नेशनल कंपनी के अधिकारी की तरफ से एक शिकायत मिली थी जिसमें कंपनी के सीईओ की तरफ से करीब 5 लाख रुपए ट्रांसफर करने के लिए एक स्टाफ को मेल आया था। शक होने पर शिकायत आगे पहुंची और जब जांच की तो पता चला कि बदरपुर के एक सरकारी बैंक की शाखा में वह अकाउंट है जहां रकम ट्रांसफर करने के लिए बोला गया था। जांच में पता चला कि फेक आईडी पर अकाउंट खोला गया था और उसमें किया गया ट्रांजेक्शन संदेहास्पद था। फिर साइबर सेल को जांच का जिम्मा सौंप दिया गया था। 

जांच और छानबीन के बाद फरीदाबाद के रहने वाले शख्स अमित गुप्ता को नेहरू प्लेस से गिरफ्तार किया गया। पुछताछ में उसने बताया कि उसने अलग अलग कई नाम से डाॅक्युमेंट बना रखा था और उस कागजात के आधार पर कई बैंक अकाउंट भी खोल रखा था। उसी फर्जी अकाउंट के जरिये एक करोड़ से ज्यादा की रकम कलेक्ट कर लिया। जो अनजान और मासूम लोगों से ठगी करके रकम बैंक अकाउंट में लायी गयी थी। 

जांच में पुलिस को पता चला कि 4 महीने में एक करोड़ से ज्यादा की रकम निकाली गई थी।  अमित गुप्ता विदेशी के साथ मिलकर लोगों को फर्जी मेल के जरिये चीटिंग करता था। इनके कब्जे से लेपटॉप, डाटा कार्ड, पेन ड्राइव, 9 मोबाइल, 25 सिम कार्ड बरामद किया गया है।