गौतम अदाणी के 60वें जन्मदिन पर अदाणी परिवार ने दान दिए 60,000 करोड़ रुपये, हेल्थ केयर, एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट में उपयोग के लिए दिया गया दान

शांतिलाल अदाणी की 100वीं जयंती और गौतम अदाणी के 60वें जन्मदिन पर, अदाणी परिवार ने कई सामाजिक कार्यों के लिए 60,000 करोड़ रुपये दान करने का फैसला किया है।

गौतम अदाणी के 60वें जन्मदिन पर अदाणी परिवार ने दान दिए 60,000 करोड़ रुपये,  हेल्थ केयर, एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट में उपयोग के लिए दिया गया दान
x

अहमदाबाद: शांतिलाल अदाणी की 100वीं जयंती और गौतम अदाणी के 60वें जन्मदिन पर, अदाणी परिवार ने कई सामाजिक कार्यों के लिए 60,000 करोड़ रुपये दान करने का फैसला किया है। भारत के जनसांख्यिकीय लाभों की क्षमता का उपयोग करने के लिए, हेल्थ केयर, एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट जैसे क्षेत्रों पर, लगातार ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। इनमें से हर एक क्षेत्र में किसी भी प्रकार की कमी, एक 'आत्मनिर्भर भारत' के लिए बाधा साबित होगी। अदाणी फाउंडेशन ने इन सभी क्षेत्रों में एकीकृत विकास प्रयासों पर केंद्रित कम्युनिटीज के साथ काम करते हुए एक महत्वपूर्ण अनुभव प्राप्त किया है। इन चुनौतियों का समाधान करने से हमारे भावी कार्यबल की मजबूती और प्रतिस्पर्धात्मकता में आवश्यक वृद्धि हासिल की जा सकती है।




और पढ़िए - Gautam Adani: अपने 60वें जन्मदिन पर गौतम अडानी करेंगे 60,000 करोड़ रुपये का दान, अजीम प्रेमजी ने कही ये बात





अदाणी समूह के चेयरमैन गौतम अदाणी ने कहा, "देशभर में हेल्थ केयर, एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट को बढ़ाने में योगदान करने का अवसर मिलने के लिए ख़ुशी महसूस कर रहा हूँ। मेरा 60 वां जन्मदिन होने के अलावा, यह वर्ष हमारे प्रेरक पिता शांतिलाल अदाणी की 100वीं जयंती का भी है। यह उस योगदान को और अधिक महत्व देता है जो हम एक परिवार के रूप में दे रहे हैं। एक बहुत ही मौलिक स्तर पर, हेल्थ केयर, एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट से जुड़े कार्यक्रमों को सम्पूर्ण रूप से लिया जाना चाहिए, जो सामूहिक रूप से एक समान और भविष्य के लिए तैयार भारत के निर्माण में प्रेरक बनते हैं। बड़े प्रोजेक्ट प्लानिंग और उसे धरातल पर उतारने में हमारा अनुभव और अदाणी फाउंडेशन द्वारा किए गए कार्यों से सीख, हमें इन कार्यक्रमों में विशेष रूप से तेजी लाने में मदद करेगा। अदाणी परिवार के इस योगदान का उद्देश्य कुछ ऐसे प्रतिभाशाली लोगों को आकर्षित करना है, जो हमारे 'ग्रोथ विथ गुडनेस' 'अच्छाई के साथ विकास' की सोच को पूरा करने की दिशा में, अदाणी फाउंडेशन के सफर में जुड़कर बदलाव लाने का जुनून रखते हैं।"


इस अवसर पर अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के अध्यक्ष व विप्रो लिमिटेड के संस्थापक अध्यक्ष और हमारे समय के सबसे महान परोपकारी लोगों में से एक के रूप में पहचाने जाने वाले अजीम प्रेमजी ने कहा, "गौतम अदाणी और उनके परिवार की सामाजिक परोपकार के प्रति प्रतिबद्धता एक उदाहरण स्थापित करता है कि हम सभी महात्मा गांधी के ट्रस्टीशिप के सिद्धांत को अपनी व्यावसायिक सफलता के शिखर पर जीने की कोशिश करते हैं और इसके लिए हमें अपने अंतिम सालों का इंतज़ार करने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने आगे कहा, "हमारे देश की चुनौतियों और संभावनाओं की मांग है कि हम धन, क्षेत्र, धर्म, जाति और बहुत कुछ के सभी विभाजनों को अलग कर के, एक साथ मिलकर काम करें। मैं इस महत्वपूर्ण राष्ट्रीय प्रयास में गौतम अदाणी और उनके फाउंडेशन को शुभकामनाएं देता हूं।"


विगत कई सालों से अदाणी फाउंडेशन ने सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ते हुए, समाज की बदलती जरूरतों को समझा है, फिर चाहे वह स्थायी आजीविका, स्वास्थ्य और पोषण की बात हो या फिर सभी के लिए शिक्षा या पर्यावरण संबंधी चिंताओं का निपटारा करते हुए महिला सशक्तिकरण को केंद्र में रखने का मुद्दा हो, अदाणी फाउंडेशन ने जमीनी स्तर पर कई स्टेकहोल्डर्स के साथ काम किया है। आज यह, भारत के 16 राज्यों के 2,409 गांवों में 3.7 मिलियन लोगों को अपनी सेवाओं के जरिये विकास के पथ से जोड़ रहा है।


अदाणी के बारे में:





और पढ़िए - 7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की चमकी किस्मत, अगले महीने से इतनी बढ़ेगी सैलरी





भारत के अहमदाबाद स्थित मुख्यालय के साथ अदाणी देश में विविध व्यवसायों का सबसे बड़ा और सबसे तेजी से बढ़ने वाला पोर्टफोलियो है, जिसमें लॉजिस्टिक्स (पोर्ट्स, एयरपोर्ट्स, लॉजिस्टिक्स, शिपिंग और रेल), रिसोर्सेज, बिजली उत्पादन और वितरण, रिन्यूएबल एनर्जी, गैस और इंफ्रास्ट्रक्चर, कृषि (वस्तुएं, खाद्य तेल, खाद्य उत्पाद, कोल्ड स्टोरेज और अनाज सिलोस), रियल एस्टेट, पब्लिक ट्रांसपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर, डिफेन्स और एयरोस्पेस, व अन्य क्षेत्र शामिल हैं।


अदाणी ने अपनी सफलता और नेतृत्व की स्थिति का श्रेय 'राष्ट्र निर्माण' और ग्रोथ विथ गुडनेस 'अच्छाई के साथ विकास' के अपने मूल धारणा को दिया है, जो सतत विकास के लिए एक मार्गदर्शक सिद्धांत है। अदाणी समूह स्थिरता, विविधता और साझा मूल्यों के सिद्धांतों के आधार पर अपने सीएसआर कार्यक्रमों के माध्यम से पर्यावरण की रक्षा और समुदायों में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है।









और पढ़िए - बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 

 



Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story