PNB में इन तीन सरकारी बैंकों का हो सकता है विलय, जानें वजह

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(22 मई): कर्ज के बोझ में डूबी बैंकिंग सेक्टर की मुश्किलें दूर करने की दिशा में अब एक और बड़ा कदम सामने आने की संभावना जताई जा रही है। पंजाब नेशनल बैंक में तीन छोटे सरकारी बैंकों का विलय हो सकता है। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, इन तीन छोटे बैंकों में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, आंध्रा बैंक और इलाहाबाद बैंक शामिल हैं।

 जिनका नियंत्रण पीएनबी के हाथों में आ सकता है। बैंकों के विलय की यह प्रक्रिया पंजाब नेशनल बैंक द्वारा अगले तीन महीनों में शुरू की जा सकती है।  हालांकि, पीएनबी और वित्त मंत्रालय ने अभी इस खबर पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। बताया जा रहा है कि, सरकार बैंकों को कर्ज के बोझ से निजात दिलाने के लिए यह कदम उठा रही है।

 गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में पहली बार तीन बैंकों का विलय हुआ था जो एक अप्रैल से प्रभावी है। इसमें बैंक ऑफ बड़ौदा में विजया बैंक और देना बैंक का विलय कराया गया था। इस विलय से बैंक ऑफ बड़ौदा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया था। इस विलय से बैंक ऑफ बड़ौदा के पास 9500 ब्रांच 85,000 कर्मचारी और 13,400 एटीएम हो गए हैं।अधिग्रहण की यह खबर आने के बाद पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के शेयर में 4 प्रतिशत तक की गिरावट आई। मंगलवार को इसके शेयर 2.55 प्रतिशत गिरकर 86.10 रुपये पर बंद हुए। इलाहाबाद बैंक के शेयर भी 2.6 प्रतिशत की गिरावट के साथ 45.15 रुपये पर बंद हुए। वहीं ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का शेयर 1 प्रतिशत की गिरावट के साथ 95.20 रुपये पर आ गया।