पूरे परिवार के साथ भिक्षु बना व्यापारी, बेटी को पीएम मोदी कर चुके हैं सम्मानित

सूरत(21 अप्रैल): गुजरात के सूरत में हीरा व्यापारी दीपेश शाह के 12 वर्षीय बेटे भव्य जैन के भिक्षु बनने के बाद अब शहर के एक और व्यापारी ने परिवार समेत उनका अनुसरण करने का फैसला किया है।

-  सूरत के उक्त व्यापारी परिवार ने आगामी 25 अप्रैल को विधि विधान से दीक्षा लेने का ऐलान किया है।

- सूरत में हीरे का व्यापार करने वाले उक्त बिजनसमैन ने अपनी पत्नी और 2 बच्चों के साथ 25 अप्रैल को अहमदाबाद में आयोजित होने जा रहे एक भव्य समारोह में दीक्षा लेने का ऐलान किया है। खास बात यह की भिक्षु बनने वाले व्यापारी की बेटी को कुछ समय पहले साउथ गुजरात यूनिवर्सिटी में टॉप करने पर पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा सम्मानित भी किया जा चुका है, वहीं उनका बेटा फिलहाल सीए की पढ़ाई कर रहा है। 

- बता दें कि गुजरात में इससे पूर्व भी कई बडे़ बिजनसमैन और उनके परिवार के लोगों ने संन्यास के रास्ते पर जाने का फैसला लिया था। सूरत के व्यापारी दीपेश शाह के बेटे भव्य जैन के संन्यासी बनने से पूर्व एक व्यवसायी परिवार से ताल्लुक रखने वाले 24 साल के सीए मोक्षेष शाह अपना 100 करोड़ का व्यवसाय छोड़ जैन मुनि बन गए थे। मूल रूप से गुजरात के रहने वाले मोक्षेष ने 20 मार्च को दीक्षा ली थी। मोक्षेष महाराष्ट्र के कोल्हापुर में ऐल्युमिनियम व्यवसायी परिवार से ताल्लुक रखते हैं।