चोरी हुए मोबाइल का पता निकालने में नहीं होगी दिक्कत, जानें सरकार का प्लान

SMART-PHONE

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(8 जुलाई): जब आपका मोबाइल चोरी हो जाता है तो आपको फोन का पता निकालने में ज्यादातर नाकामी ही हाथ लगती होगी, लेकिन अब सरकार ऐसा ट्रेकिंग सिस्टम लॉन्च करने वाली है, जिससे आपको सारी मुसीबतों से सफलता जल्द मिल जाएगी। गायब हुए मोबाइल में जब आपके महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट सेव होते है तो सारा सिस्टम ही बिगड़ जाता है। स्मार्टफोन के इस दौर में बैंक डिटेल, ईमेल-आईडी सहित कई गोपनीय जानकारी मोबाइल में होती है जिसका नाजायज फायदा दूसरे के हाथ लगने पर उठाया जा सकता है। सरकार अब ऐसी तकनीक लांच करने जा रही है, जिससे आप अपने खोए हुए फोन को आसानी से ढूंढ पाएंगे। इस तकनीक से देशभर में ऑपरेट हो रहे चोरी के फोन को ट्रैक किया जा सकता है, इस सिस्टम की खासियत यह होगी कि फोन से सिम कार्ड निकाल देने या IMEI नंबर बदल देने के बाद भी फोन को ट्रैक किया जा सकेगा। इस तकनीक को टेलीकॉम सेक्टर में रिसर्च करने वाली संस्था, सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ़ टेलीमैटिक्स (C-DoT) ने तैयार किया है और इसके कई सफल परीक्षण हो चुके हैं, अगले महीने यानि अगस्त में इसे लांच किए जाने की संभावना है।

चोरी रोकने का ये होगा तरीका

भारतीय दूरसंचार विभाग ने C-DoT को मोबाइल ट्रैकिंग प्रोजेक्ट ''सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर का प्रोजेक्ट सौंपा था, इसका उद्देश्य था मोबाइल फोन की चोरी और नकली फोन के कारोबार को रोकना है। CEIR सिस्टम चोरी या गुम हुए मोबाइल फोन पर मौजूद सभी तरह की सेवाओं को तुरंत ब्लॉक कर देगा।

IMEI नंबर बदलने के बावजूद, यह सभी मोबाइल ऑपरेटर्स के IMEI डाटाबेस को कनेक्ट करेगा ताकि किसी भी नेटवर्क में ब्लैकलिस्ट की गई डिवाइस दूसरे नेटवर्क में काम न करे, जिसके बाद मोबाइल काम करने लायक नहीं रहेगा। इस डाटाबेस की मदद से सुरक्षा एजेंसियां चोरी हुए मोबाइल को आसानी से ढूंढ़ सकेंगी और इसका दुरूपयोग रोका जा सकेगा।