बजट में निर्मला सीतारमण की ये हैं बड़ी बातें

SITHARAMAN

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(5 जुलाई): देश की पहली महिला पूर्णकालिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपना पहला बजट संसद में पेश किया। केंद्र की इसलिए किसान, वेतनभोगी वर्ग से लेकर उद्योग जगत तक, सभी को इस बजट से बहुत उम्मीदें हैं। किस वर्ग की किन उम्मीदों पर कितना खरा उतर पाएंगी वित्त मंत्री, यह देखना बहुत दिलचस्प होगा। यहां बजट भाषण के हर महत्वपूर्ण तथ्यों का संकलन किया जा रहा है। निर्मला सीता रमण संसद में एक नए अंदाज में पहुंची। निर्मला सीतारमण लाल ब्रीफकेस लेकर नहीं, बल्कि लाल मखमली पैकेट उनके हाथ में था। 

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

मोदी सरकार ने पिछले 1000 दिनों में 130 से 135 कि.मी. लंबी सड़कें रोज बनाईं। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत ग्रीन टेक्नॉलजी के इस्तेमाल से 30 हजार किलोमीटर लंबी सड़कें बनाई जा चुकी हैं। इसमें वेस्ट प्लास्टिक और कोल मिक्स्ड टेक्नॉलजी से कार्बन फुटप्रिंट को कम किया गया है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तीसरे चरण में 1.25 लाख कि.मी. सड़कों को अगले पांच सालों में अपग्रेड किया जाएगा। इस पर 80,250 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना का दूसरा चरण

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के दूसरे चरण में 2020 से 2021-22 के दौरान 1.95 करोड़ घरों के आवंटन का लक्ष्य रखा गया है। इनमें शौचालय, बिजली कनेक्शन और गैस (एलपीजी) की सुविधा होगी। 2015-16 में इस योजना के तहत घर बनाने में 314 दिन लग जाया करते थे, लेकिन प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) प्लैटफॉर्म के इस्तेमाल से इसे घटाकर अब महज 114 दिनों तक ला दिया गया है।

इन्फ्रास्ट्रक्चर फंडिंग

भारत में हर साल 20 लाख करोड़ रुपये निवेश की जरूरत है। इन्फ्रास्ट्रक्चर फाइनैंसिंग के लिए साधनों को लेकर कई सुधारों के प्रस्ताव किए गए हैं। क्रेडिट गारंटी एन्हैंसमेंट कॉर्पोरेशन के लिए आरबीआई से नोटिफेशन आ चुका है। इसकी स्थापना 2019-20 में हो जाएगी। इन्फ्रास्ट्रक्चर डेट फंड्स और एनबीएफसी की ओर से जारी डेट सिक्यॉरिटीज में एफआईआई और एफआई निवेश को घरेलू निवेशकों को निश्चित अवधि के लिए ट्रांसफर करने की अनुमति दी जाएगी।1- सरकार नदियों से मालवहन करने का नजरिया रखती है। जलमार्ग विकास परियोजना के तहत वाराणसी में एक मल्टिमॉडल टर्मिनल नवंबर से फंक्शनल है। साहिबगंज और हल्दिया में दो और टर्मिनल्स बन रहे हैं।

2- बजट भाषण में इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर पर विशेष जोर दिया जा रहा है। वित्त मंत्री ने सड़क, जलमार्ग और वायुमार्ग को मजबूती प्रदान करने के मोदी सरकार के लक्ष्यों का जिक्र किया।

3- हमने अपने नागरिकों की आशा, विश्वास और आकांक्षा के दम पर पिछले पांच वर्षों में देश की जीडीपी में 1 लाख करोड़ रुपये जोड़े। इस साल भारतीय अर्थव्यवस्था 3 लाख करोड़ रुपये की हो जाएगी: वित्त मंत्री

4- देश के विकास के लिए 10 दृष्टिकोण की चर्चा करते हुए सीतारमण ने फिजिकल-सोशल इन्फ्रास्ट्रक्चर से लेकर डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर तक और मेक इन इंडिया से लेकर ब्लू इकॉनमी तक की चर्चा की।

5- यकीन हो तो कोई रास्ता निकलता, हवा की ओट लेकर भी चिराग जलता है

6- वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि हमारी सरकार के विकास का नजरिया है और आगे भी रहेगा- 'मजबूत देश के लिए मजबूत नागरिक'