फ्रांस में महिलाओं को बुर्कीनी पहनने पर लगा जुर्माना

पैरिस (18 अगस्त): दक्षिणी फ्रांस में समुंद्री बीच पर महिलाओं को बुर्कीनी (इस्लामिक स्विमसूट) पहनने पर आर्थिक पर जुर्माना भरना पड़ा है। केन्स के इस बीच पर 29 से 57 उम्र की महिलाएं अपने बच्चों के साथ इस पूरे ढकने वाले स्विमसूट में पहुंचीं थीं, जिस पर अधिकारियों ने उनके कपड़ों को आपत्तिजनक करार दिया।

अधिकारियों ने चार महिलाओं पर 36 यूरो का जुर्माना लगाया गया जबकि अन्य महिलाओं को चेतावनी देकर इलाके को छोड़ देने के लिए कहा गया। मेयर डेविड लिसनार्ड के केन्स में फुल बॉडी स्विमसूट पर बैन लगाने के फैसले ने मुस्लिम समुदाय में रोष व्याप्त कर दिया है। मेयर ने कहा कि इस तरह के कपड़ों पर स्वच्छता कारणों से प्रतिबंध लगाया गया है। मुझे जानकारी मिली कि हमारे इलाके के एक बीच पर एक महिला पूरी तरह से ढके कपड़े पहने स्विमिंग कर रही हैं, हम स्वच्छता कारणों से इसे स्वीकार नहीं कर सकते हैं और हम इस तरह की घटनाओं का स्वागत नहीं कर सकते हैं। फ्रांस में बीच पर कोई पूरी तरह से धार्मिक मान्यताओं को दिखलाने वाले पहनावे को नहीं अपना सकता है। खासकर ऐसी मान्यताएं जिन पर धर्म भी दबाव नहीं डालता।'

फ्रांस में बुर्के और निकाब (नकाब) पर 2004 से बैन...

मेयर लिसनार्ड के इस आदेश को कोर्ट में चुनौती दी गई लेकिन कोर्ट ने मेयर के आदेश को सही ठहराते हुए बरकरार रखा। न्यायाधीश ने कहा कि फ्रेंच कानून के मुताबिक, पब्लिक और प्राइवेट लोगों के लिए बनाए गए सामान्य नियमों पर धार्मिक विश्वास थोपने वाले आचरण या व्यवहार पर प्रतिबंध हैं।

केन्स नीस से 20 मील की दूरी पर है, नीस में एक महीने पहले ही मोहम्मद लाउएज बोहलेल ने एक ट्रक से भीड़ वाले इलाके में विस्फोट किया था जिसमें 85 लोगों की मौत हो गई थी। एक और रिजॉर्ट विलेनुवे लोबेत ने भी बीच पर बुर्के पहनने पर प्रतिबंध लगा रखा है। हाल ही में आए नए कानून के मुताबिक, जो कपड़े सेक्युलर सिद्धांतों, नैतिकता और स्वास्थ्य नियमों के प्रतिकूल हैं, उन पर प्रतिबंध लगाया गया है।