चूहे ना पी जाएं शराब, इसलिए 33000 लीटर पर चलाया बुलडोजर

अमिताभ ओझा, पटना (29 मई): बिहार से कुछ दिन पहले ही खबर आई थी कि वहां के थानों में जब्त करके रखी हुई शराब को चूहे पी गए। अब ऐसे चूहों से बचने के लिए सरकार ने फरमान जारी किया कि जब्त शराब को कोर्ट के आदेश लेकर नष्ट किया जाए।

पिछले एक सप्ताह के दौरान पूरे बिहार में पांच लाख लीटर अंग्रेजी और दो लाख लीटर देश शराब को नष्ट किया गया है। इसी क्रम में सोमवार को पटना में अब तक शराब की सबसे बड़ी खेप करीब 33 हजार लीटर शराब को नष्ट किया गया। पटना के खगौल में बिहार बेबरेज कोर्पोरेशन का गोदाम में जहां डेढ़ साल पहले तक शराब का स्टॉक रखा जाता था, उसके परिसर में करीब 33 हजार लीटर शराब पर पटना के जिलाधिकारी डं संजय अग्रवाल और पुलिस अधिकारीयों के मौजूदगी में इन शराब की बोतलों पर बुलडोजर चलाया गया।

दरअसल ऐसी लगातार शिकायतें आ रही थी कि थानों में जब्त की गई शराब का बंदरबांट किया जा रहा है और कई जगह कोर्ट को बताया जा रहा है कि शराब को चूहे पी गए। जबकि कई जगह सामने आया था कि शराब के बोतलों में पानी मिला दिया गया था। लगातार आ रही ऐसी खबरों के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बैठककर आदेश दिया था कि जब्त शराब के कोर्ट से इजाजत लेकर नष्ट किया जाए। इसके लिए जिलाधिकारी को नोडल पदाधिकारी बनाया गया है।