VIDEO: बुलंदशहर पुलिस का कारनामा, 10 साल बाद जिंदा मिला मुर्दा

बुलंदशहर (19 अप्रैल): यूपी के बुलंदशहर से एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है। यहां पुलिस ने एक मुर्दा को गिरफ्तार किया है। जिसकी हत्या के आरोप में एक बेगुनाह को कई दिनों तक जेल की हवा खानी पड़ी थी। हालांकि कथित मृतक को पुलिस ने जेल भेज दिया है और पीड़ित इंसाफ की मांग कर रहा है। पूरा मामला बुलंदशहर की देहात कोतवाली की है। जहां 2007 में नैथला हसनपुर गांव का रहने वाला  दीपक घर से गायब हो गया था। जिसके बाद परिजनों ने कोतवाली में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई और फिर कुछ दिन के बाद तत्कालीन पुलिस ने एक अज्ञात शव बरामद किया जिसकी शिनाख्त कराई गई तो परिजनों ने उसे दीपक का शव बताया और हत्या का आरोप दीपके के अमित पर लगा उस जेल भिजवा दिया। 

लेकिन अपने ही दोस्त की हत्या के आरोप में जेल काट चुके अमित के पैरों तले से उस वक्त ज़मीन खिसक गई जब उसे दीपक के ज़िन्दा होने की जानकारी मिली... जिसके बाद उसने ये बात पुलिस को बताई और दीपक को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया। बताया जा रहा है कि कथित मृतक दीपक की माने तो कक्षा 09 की परीक्षा में फेल होने की वजह से वो घर से गायब हुआ था, और सालों तक घर से गायब रहा पर दीपक को इस बात का पता नहीं था कि उसके मृत घोषित कर दिया गया है। 

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की खास रिपोर्ट...