बुलंदशहर हिंसा के 4 आरोपियों ने किया सरेंडर, 1 गिरफ्तार

न्यूज 24 ब्यूरो, मानस श्रीवास्तव, लखनऊ (20 दिसंबर): बुलंदशहर हिंसा में पुलिस की लिस्ट में शामिल 4 आरोपियों ने सरेंडर किया है, जबकि एक आरोपी अजय देवला को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी पांचों अभियुक्तों को जेल भेजा गया है। इससे पहले बुलंदशहर हिंसा मामले में पुलिस 20 आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज चुक‍ी है। हालांकि हिंसा का मुख्य योगेश राज अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इसके अलावा पुलिस ने गोहत्या के आरोप में भी तीन लोगों को गिरफ़्तार किया है।

इस मामले में गोकशी के तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद सीएम योगी ने इसके पीछे बड़ी साजिश का दावा किया है।  इस मामले में विरोधी सरकार की मंशा पर सवाल खड़े कर रहे हैं जबकि प्रदेश के पूर्व अधिकारियों का एक ग्रुप जांच की दिशा बदलने का आरोप लगा रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुताबिक ये साजिश जहरीली शराब के सौदागरों ने रची। सीएम योगी के दावे के मुताबिक इसका मकसद दंगा कराना था, जिसके लिए गोकशी को हथियार बनाया गया। पुलिस ने गोकशी के जरिए दंगा फैलाने का मंसूबा रखने के तीन आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार कर लेने का का दावा किया है। पुलिस के मुताबिक नदीम, रईस और काला नाम के इन आरोपियों ने 1 दिसंबर की रात गोकशी कर 2 दिसंबर की रात महाव गांव में गोमांस फेंका था, जिसके बाद 3 दिसंबर को स्याना में हिंसा भड़की थी।

आपको बता दें कि बुलंदशहर में 3 दिसंबर को भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के साथ ही सुमित नाम के एक युवक की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने 27 लोगों के खिलाफ नामजद और 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था, जिनमें से कई आरोपियों को गिरफ्तारी हो चुकी है। जेल भेजे गए आरोपियों में से 4 बेगुनाह भी निकले जबकि मुख्य आरोपी योगेश राज अब तक उसकी गिरफ्त से बाहर है।

इसको लेकर अब ये सवाल भी उठाए जा रहे हैं कि शासन प्रशासन के दावे कहीं मुख्य आरोपी को क्लीन चिट देने की तैयारी का हिस्सा तो नहीं ? प्रदेश के रिटायर्ड अधिकारियों का एक समूह इस मामले में जांच की दिशा मोड़ने का आरोप लगा रहा है। 83 पूर्व नौकरशाहों ने इसके लिए बाकायदा चिट्ठी लिखकर सीएम योगी से इस्तीफे की मांग की है। उनका आऱोप है कि इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के बदले मामले की जांच को गोकशी की तरफ मोड़ने की कोशिश की जा रही है। मुख्य आरोपी की अब तक गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर विरोधी पार्टियां भी सरकार की नीयत पर सवाल खड़े कर रही है।


ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...