25 दिन बाद पकड़ा गया इंस्पेक्टर सुबोध का हत्या, बताया कैसे की थी हत्या?

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (28 दिसंबर): बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को गोली मारने वाले शख्स प्रशांत नट को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में प्रशांत ने बताया कि उसने इंस्पेक्टर के पिस्टल से ही उनको गोली मारी। उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। प्रशांत ने खुलासा किया कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर पहले पत्थरों से हमला हुआ था, जिसमें वह घायल हो गए थे।

पुलिस की थ्योरी के मुताबिक योगेश राज ने नहीं बल्कि प्रशांत नट ने इंस्पेक्टर की हत्या की थी और जॉनी नाम के शख्स ने इंस्पेक्टर के हाथों से रिवॉल्वर छीनी थी। 3 दिसंबर को गोकशी की खबर के बाद हिंसा फैल गई थी। धीरे-धीरे भीड़ हिंसक होने लगी। इस दौरान सुमित नाम के एक शख्स की गोली लगने से मौत हो गई थी। इसके बाद भीड़ इंस्पेक्टर सुबोद कुमार सिह से भिड़ गई और इसी दौरान किसी ने इस्पेक्टर से रिवॉल्वर छीन कर उन्हें गोली मार दी थी। अब पुलिस ने खुलासा किया है कि गोली प्रशांत ने मारी थी।

वहीं रिवॉल्वर चुराने वाले की भी पहचान हो गई है और उसकी तलाश जारी है। पुलिस के मुताबिक़ जॉनी नाम के शख़्स ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह से रिवॉल्वर छीनी थी। वहीं, प्रशांत नट ने उन्हें गोली मारी थी। जॉनी की तलाश जारी है। पुलिस को हाथ लगे दो वीडियो में ये दोनों शख्स साथ दिख रहे है। पुलिस ने जॉनी और प्रशांत नट दोनों को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत में मुख्य आरोपी बनाया है। दोनों बुलंदशहर के रहने वाले हैं। प्रशांत नट के पकड़े जाने के बाद यूपी एसटीएफ़ जॉनी की तलाश कर रही है। पुलिस पूछताछ में प्रशांत नट ने हत्या की बात कबूल कर लिया है और अब उससे पूछताछ जारी है।

बुलंदशहर हिंसा मामले में अब भी योगेश राज हिंसा भड़काने का मुख्य आरोपी है। इससे पहले इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में पुलिस को जीतू फौजी को गिरफ्तार किया था। आरोपी नंबर-11 जीतू उर्फ फौजी घटना के दिन पुलिस चौकी के सामने सक्रिय तौर पर मौजूद था।