जंग में पाकिस्तान का साथ देगा बुगती का रिश्तेदार

नई दिल्ली(26 सितंबर): बलूच अलगाववादी आंदोलन में आंतरिक कलह का संकेत सामने आ गया है, क्योंकि ब्रह्मदाग बुगती के एक रिश्तेदार ने कहा है कि भारत के साथ लड़ाई होने की स्थिति में वह पाकिस्तान के पक्ष में लड़ेगा। दिवंगत बलूच कबायली नेता नवाब अकबर बुगती के पोते शाहजैन बुगती ने कहा है कि यदि भारत के साथ जंग छिड़ती है तो वह और उनके कबायली लड़ाके पाकिस्तान की सेना के साथ मिलकर भारतीय सैनिकों के खिलाफ लड़ेंगे।

- जिनीवा में रहने वाले ब्रह्मदाग बुगती के भतीजे शाहजैन ने जम्हूरी वतन पार्टी के वार्षिक सम्मेलन में कहा कि बुगती कबीला पाकिस्तान की रक्षा में हमेशा खड़ा रहेगा।

- वहीं, ब्रह्मदाग बुगती ने भारत में शरण मांगी है। जम्हूरी वतन पार्टी उनके दादा ने बनाई थी। शाहजैन ने कहा, 'ब्रह्मदाग का जहां भी रहने का फैसला हो, रह सकते हैं, चाहे भारत हो या जिनीवा। लेकिन जहां तक मेरी और पार्टी की बात है तो हम हमेशा नवाब अकबर बुगती के हुक्म का पालन करेंगे।'

- गौरतलब है कि अगस्त, 2006 में अकबर बुगती के मारे जाने के बाद उनके पोतों और बेटों में उत्तराधिकार की लड़ाई चल रही है। शाहजैन और ब्रह्मदाग कबीले के प्रमुख के दावेदार हैं और उन्होंने आली बुगती को उनका उत्तराधिकार मानने से इनकार कर दिया है।