राज्यसभा सदस्यों की विदाई समारोह में बोले जेटली- सदन की संपत्ति थे राजीव शुक्ला, मिस करूंगा

नई दिल्ली (28 मार्च): बजट सत्र के दूसरे सेशन चल रहा है लेकिन इन 17 दिनों में सदन में काम नहीं हो पाया। वहीं आज राज्यसभा में सांसदों का विदाई भाषण हुआ। इस दौरान वित्तमंत्री अरुण जेटली ने सदन को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आश्चर्य होता है कि राजीव शुक्ला कांग्रेस में हैं लेकिन वह पूरे सदन की संपत्ति थे। उन्होंने कहा हर क्षेत्र में उनका दखल रहता है।उन्होंने रिटायर हो रही सभी सांसदों को भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

जेटली ने कहा तमन सेन, नरेश अग्रवाल, सत्यव्रत चतुर्वेदी, पारासरन जैसे सांसदो को सदन कभी नहीं भूल पाएगा। उन्होंने कहा डीपी त्रिपाठी और मैं आपातकाल के दौरान साझा कैदी थे, उन्हें सदन में बोलने का मौका कम मिला हो लेकिन उनका भाषण उनकी काबिलियत को दर्शाता है।

इससे पहले पीएम मोदी ने  ने सदन को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि राज्यसभा में हंगामे के कारण सेवानिवृत्त हो रहे सदस्यों को तीन तलाक पर रोक संबंधी विधेयक जैसे महत्वपूर्ण फैसलों में भाग लेने का सौभाग्य नहीं मिल सका। मोदी ने सेवानिवृत्त हो रहे 40 सांसदों के विदाई के मौके पर उन्हें उत्तम सेवाओं और योगदान के लिए शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि भले ही आप लोग संसद से जा रहे हैं लेकिन आपके लिए पीएमओ के दरवाजे हमेशा खुले हैं। आप अने अनुभव और सेवाएं साझा करने के लिए कभी भी किसी भी समय मुझसे मिल सकते हैं।