जानें कैसे, सर्विस टैक्स खत्म होने के बावजूद खिड़की टिकट से महंगा रहेगा ई-टिकट

नई दिल्ली (2 फरवरी): आम बजट में सरकार ने ई-रेल टिकट पर लगने वाले सर्विस टैक्स को खत्म करते हुआ रेल यात्रियों को बड़ी राहत दी है। लेकिन सरकार के इस राहत के बाद भी ई-टिकट खिड़की से मिलने वाले टिकट के मुकाबले महंगा रहेगा।

IRCTC के जरिए स्लीपर टिकट बुक कराने पर 20 रुपये और वातानुकूलित श्रेणी में 40 रुपये सर्विस टैक्स देना पड़ता था। वित्तमंत्री जेटली ने बजट में किए गए प्रावधानों के जरिए ऑनलाइन टिकट कराने पर लगने वाले सर्विस टैक्स को खत्म कर दिया। लेकिन अब भी ऑनलाइन टिकट लेने पर बैंकों को टॉजेक्शन चार्ज देना पड़ेगा।

इतना ही नहीं लंबी दूरी की यात्रा के लिए दो गाड़ियों के ऑनलाइन टिकट बनवाने पर दो बार आरक्षण शुल्क लगता है और टेलिस्कोपिक यात्रा का रियायती लाभ भी नहीं मिलता।