किसानों को जेटली को तोहफा, MSP से डेढ़ गुना कीमत पर खरीदेगी खरीब की फसल

नई दिल्ली (1 फरवरी ): मोदी सरकार ने आज आखरी बजट पेश करते हुए किसानों को बड़ी राहत दी है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में बजट पढ़ते हुए कहा कि हमने अपने घोषणापत्र में किसानों से वादा किया था कि हम फसल को MSP से डेढ़ गुना कीमत पर खरीदेंगे।

वित्त मंत्री ने कहा कि इसपर मोदी सरकार ने काम करना शुरु कर दिया है और सरकार ने रबी की फसल को  MSP से डेढ़ गुना कीमत पर खरीदा। वित्त मंत्री ने कहा कि अभी सभी फसलों को MSP से डेढ़ गुना कीमत पर खरीदा जाएगा। हमारे दल के घोषणा पत्र में यह संकल्प है कि कृषि को लाभकारी बनाने के लिए किसानों को उनकी लागत से कम से कम डेढ़ गुना लाभ मिले। हम इसके प्रति संवेदनशील हैं। 

जेटली ने कहा कि न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य ही बढ़ाना पर्याप्‍त नहीं है, घोषित एमएसपी का फायदा किसानों को मिले इसके लिए नीति आयोग केंद्र एवं राज्य सरकारों के साथ चर्चा कर एक पुख्ता व्यवस्था तैयार करेगा, जिससे किसानों को उनकी फसल के उचित दाम दिलवाए जा सकें।  सरकार ने खरीफ की सभी फसलों का न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य उत्‍पादन लागत का डेढ़ गुना करने का फैसला लिया गया है। रबी की अधिकांश फसलों के लिए समर्थन मूल्‍य लागत से डेढ़ गुना तय किया जा चुका है।

इसके अलावा वित्त मंत्री ने किसानों के ये बड़ी घोषणाएं की-

- गांवों में 22 हजार हाटों को कृषि बाजार में तब्दील किया जाएगा। - फूड प्रोसेसिंग इंडस्‍ट्री को इस बार दिया जा रहा है दोगुना। 14000 करोड़ रुपए का बजट। - सभी फसलों को एमएसपी के दायरे में लाया जाएगा। - ऑर्गेनिक फार्मिंग को सरकार और बढ़ावा देगी। - 2 हजार करोड़ रुपए से स्‍थापित होगा कृषि बाजार और संरचना कोष।

-1290 करोड़ रुपए के साथ संशोधित बांस योजना की घोषणा हुई।  - किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा अब मछली पालन और पशु पालन किसानों को भी मिलेगी। - 42 मेगा फूड पार्क की स्‍थापना को दी गई मंजूरी।

-वायु प्रदूषण को कम करने के लिए विशेष सहयोग देने की घोषणा -कृषि ऋण के लिए 11 लाख करोड़ रुपए का किया गया प्रस्‍ताव -मछली पालन और पशु पालन के लिए 10 हजार करोड़ रुपए के नए फंड का किया गया प्रस्‍ताव