कार एक्सीडेंट के बाद बौद्ध भिक्षु को मेडिटेशन में परेशानी, हर्जाने में मांगे 2.5 लाख पाउंड

नई दिल्ली (3 फरवरी): एक बौद्ध भिक्षु ने अपने साथ हुई एक कार दुर्घटना के बाद हर्जाने के तौर पर 2,50,000 पाउंड की मांग की है। भिक्षु का कहना है कि कार दुर्घटना के बाद से वह लंबे समय तक बैठकर ध्यान नहीं लगा पा रहे हैं। 

'मेलऑनलाइन' की रिपोर्ट के मुताबिक, सैंगटॉन्ग फेन्सरिसाई लंदन से एडिनबर्ग जा रहे थे। वह फ्रंट सीट पर बैठे हुए थे, तभी ड्राइवर ने अपना नियंत्रण खो दिया। इस क्रैश में रीयर सीट्स पर बैठे तीन भिक्षुओं की मौत हो गई। हादसे के बाद जब अस्पताल में घायल अवस्था में उनकी आंख खुली तो उन्हें तीनों की मौत के बाद पता चला। अब इस नुकसान के लिए उन्होंने लंदन के कार की ड्राइवर मिस एनांग युकितान पर मुकदमा किया है। जिसकी गलती से 2012 की क्रिस्मस ईव पर मिडलोथियन के पाथहेड में फाला डैम पर यह हादसा हुआ। 

इस मामले में ड्राइवर पक्ष ने नुकसान के लिए जवाबदेही स्वीकार कर ली है, लेकिन हर्जाने की मांग पर ड्राइवर के वकीलों की तरफ से विवाद किया गया है। उनका कहना है कि 2 लाख पचास हजार पाउंड की रकम काफी ज्यादा है। मुकदमा करने वाले भिक्षु ने कहा है कि इस हादसे ने उनकी पीएचडी डिग्री की पढ़ाई प्रभावित की है। साथ ही अनुवादक और व्याख्याकर्ता के तौर पर होने वाली उनकी आमदनी और प्रिज़न सर्विस में मेडीटेशन टीचर के तौर पर उनके काम को प्रभावित किया है। इस मामले में कोर्ट में सुनवाई चल रही है।