मौर्या पार्टी नहीं छोड़ते तो हम निकाल देते: मायावती

नई दिल्ली (22 जून): यूपी की राजनीति में लगातार उठापटक हो रही है। टिकटों को बेचने का आरोप लगाकर बसपा पार्टी से इस्तीफा देने वाले स्वामी प्रसाद मौर्या को लेकर पार्टी सुप्रीमो मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस की है। उन्होंने कहा कि अगर मौर्या पार्टी नहीं छोड़ते तो हम उन्हें निकाल देते।

मायावती ने मौर्या पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें परिवारवाद का मोह है और उन्होंने पार्टी छोड़कर बीएसपी पर कोई एहसान नहीं किया है। मौर्या भी मुलायम‍ सिंह की तरह परिवारवाद से ग्रस्त है और घर भर के लिए टिकट मांगते थे। उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य पहले मुलायम सिंह यादव के साथ थे। बीएसपी परिवारवाद को बढ़ावा नहीं देगी। मैंने अपने परिवार के सदस्यों को पार्टी से दूर रखकर कांशीराम के अभियान को आगे बढ़ाया है।

बसपा सुप्रीमो यहीं नहीं रूकी और उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्या पर वार करते हुए कहा कि उन्होंने मुझपर टिकट के लिए पैसे लेने के आरोप लगाए हैं तो वह बताएं कि अपनी बेटी के टिकट के लिए कितने पैसे दिए हैं। मौर्या सिर्फ परिवारवाद के चक्कर में पार्टी छोड़कर गए हैं। कांफ्रेंस में उन्होंने सपा प्रमुख मुलायम सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा में मुलायम सिंह के बच्चे, उनके बच्चे के बच्चे को टिकट मिलता है फिर पार्टी के अन्य लोगों को टिकट मिलता है, बसपा में यह नहीं होता। पार्टी छोड़कर जाने वाले बोलते हैं कि मायावती दलित नहीं दौलत की बेटी है, लेकिन सही कारण नहीं बताते।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, बीएसपी में बगावत करने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्या अब समाजवादी पार्टी में जा सकते हैं। इस्तीफा देने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्या ने शिवपाल यादव और आजम खान से मुलाकात की है। बताया जा रहा है कि ये इस बात के साफ संकेत है कि अब स्वामी प्रसाद मौर्या समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=7RHTu9Ks0Cw[/embed]