Blog single photo

सम्मानजनक सीट पर ही गठबंधन- मायावती

बीएसपी के राष्ट्रीय अधिवेशन में मायावती ने गठबंधन की संभावना पर बोलते हुए कहा कि बीएसपी किसी भी राज्य में किसी भी चुनाव में किसी भी पार्टी के साथ केवल सम्मानजनक सीटें मिलने पर गठबंधन-समझौता करेगी, अन्यथा अकेली चुनाव लड़ना ज्यादा बेहतर समझेगी।

नई दिल्ली (27 मई): 2019 में होने वाले आम चुनाव में अभी तकरीबन एक साल का वक्त बचा है। लेकिन अभी से चुनावी सुगबुगाहट तेज हो गए है। सत्ताधारी बीजेपी के खिलाफ गैर बीजेपी पार्टियां लामबंद होती दिख रही है। इसकी एक झलक कर्नाटक में कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में भी दिखा। जहां एक ही मंच पर सोनिया गांधी, मायावती, अखिलेश यादव, ममता बनर्जी, तेजस्वी यादव समेत कई पार्टियों के आला नेता एक मंच पर नजर आए।इनसबके बीच बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने लोकसभा चुनाव के दौरान गठबंधन को लेकर बड़ा बयान दिया है। बीएसपी के राष्ट्रीय अधिवेशन में मायावती ने गठबंधन की संभावना पर बोलते हुए कहा कि बीएसपी किसी भी राज्य में किसी भी चुनाव में किसी भी पार्टी के साथ केवल सम्मानजनक सीटें मिलने पर गठबंधन-समझौता करेगी, अन्यथा अकेली चुनाव लड़ना ज्यादा बेहतर समझेगी। अधिवेशन में साफ किया कि बसपा यूपी सहित कई और राज्यों में गठबंधन करके चुनाव लड़ने पर बातचीत कर रही है। इसके बाद भी पार्टी सभी परिस्थितियों का मुकाबला करने के लिए तैयार है।उन्होंने यह भी साफ किया कि हालांकि गठबंधन के मामले में बसपा की यूपी सहित कई और राज्यों में भी गठबंधन करके चुनाव लड़ने की बातचीत चल रही है, लेकिन फिर भी सभी परिस्थितियों के लिए तैयार रहें। अपने-अपने प्रदेश में पार्टी के संगठन को हर स्तर पर तैयार करें। कैडर के आधार पर पार्टी का जनाधार बढ़ाना है। लोकसभा व विधानसभा उम्मीदवारों के चयन के बारे में जो निर्देश दिए गए हैं उस पर भी काम करते रहना है। विरोधी पार्टियां वोट बंटवारे के लिए कुछ भी तिकड़म लगा सकती हैं। इसलिए कैडर को सावधान रखना है। उन्हें गुमराह होने से रोकना है।

Tags :

NEXT STORY
Top