सहारनपुर में मायावती को नहीं मिला हेलीपैड, बोलीं- मुझे कुछ हुआ तो भाजपा जिम्मेदार

नई दिल्ली ( 23 मई ): दलितों के मुद्दे पर यूपी और देश में राजनीति गर्म है। बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती आज सहारनपुर के उस गांव में जा रही हैं, जहां पिछले दिनों दलित समाज के लोगों के घर जलाए गए थे। दिल्ली से सहारनपुर जाने से पहले मायावती ने यूपी की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला है।


मायावती ने कहा है, ‘’सहारनपुर के जिस गांव में वर्तमान में जो घटना घटी है वो दुर्भाग्यपूर्ण है। यूपी में भाजपा की सरकार जातिवादी सरकार है। चाहे वो दलित वर्ग के लोग हों या अन्य पिछड़ी जाती के लोग हों। भाजपा की सरकार उनके साथ पक्षपात का रवैया अपना रही है।’’ उन्होंने कहा, ‘’सहारनपुर की ये घटना सिर्फ जातिवादी और पक्षपाती रवैये की वजह से घटी है। इसके लिए भाजपा की सरकार जिम्मेदारी है।’’


जब मेरी यूपी में सरकार बनी किसी भी कार्यकर्ता को अनुशासनहीन नहीं होने दिया। भाजपा की सरकार पूरी तरह से जातिवादी सरकार है। ये सरकार दबे कुचले वर्ग के साथ पक्षपात वाला राविया अपना रही है। सहारनपुर की घटना में न केवल लोगों के घर जलाए बल्कि बहन बेटियों को बेइज्जती की गयी है। मैं पहले भी जा सकती थी, लेकिन मेरे ऊपर आरोप लगाते की मैंने वह जाकर माहौल खराब किया। जब मौहाल ठीक हो गया तो मैं जा रही हूं।


मायावती ने कहा कि सहारनपुर में हेलीपैड के अरेजमेंट के लिए डीएम और एसएसपी ने परमि‍शन देने से मना कर दिया है। मैं दिल्ली से बाईरोड सहारनपुर जा रही हूं। मेरे वहां तक पहुंचने और वहां से लौटने तक की जिम्मेदारी यूपी सरकार की होगी। अगर मुझे कुछ होता है तो इसके लिए भाजपा सरकार जिम्मेदार होगी। मुझे बाईरोड जाने के लिए मजबूर किया जा रहा है।”


आपको बता दें कि सहारनपुर के गांव शब्बीरपुर में दलितों और ठाकुरों के बीच डीजे को लेकर हुई मामूली तनातनी ने उग्र रूप धारण कर लिया था। इसके चलते दोनों पक्षों के बीच पथराव, गोलीबारी और आगजनी हुई थी। इस दौरान एक युवक की पत्थर लगने से मौत हो गई थी और लगभग एक दर्जन लोग घायल हो गए थे जिसके बाद दलितों ने महापंचायत बुलाकर घटना पर विरोध जताया। इसी दौरान हिंसा भड़क उठी भीड़ ने पुलिस गाड़ी और नाके को आग के हवाले कर दिया।