बीएसएफ जवान तेजबहादुर की पत्नी पहुंची होईकोर्ट, लगाया पति के गायब होने का आरोप

नई दिल्ली ( 9 फरवरी ): खराब खाने को लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड करने वाले बीएसएफ के जवान तेजबहादुर यादव की पत्नी ने दिल्ली हाईकोर्ट में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की है। बीएसएफ जवान तेजबहादुर की पत्नी का कहना है कि वह गायब हो गए हैं। अब परिवार बीएसएफ के डीजी केके शर्मा को भी लीगल नोटिस भी भेजने का निर्णय लिया है। 

परिवार का दावा है कि उन्हें तेज बहादुर के बारे में कोई जानकारी नहीं है कि वे कहां हैं। तेज बहादुर की पत्नी के भाई विजय ने बताया कि परिवार उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा, परिवार ने बीएसएफ को दो पत्र भी लिख दिए, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। विजय ने बताया, ‘यादव ने आखिरी बार अपनी पत्नी से बात की थी और बताया था कि बीएसएफ अधिकारी उसे अज्ञात जगह पर ले जा रहे हैं। इससे ज्यादा वह बोल नहीं पाया। हमने डीआईजी को दो पत्र लिखे हैं, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला।’

सोमवार को यादव की पत्नी शर्मिला और उनके भाई रणबीर सिंह ने अर्द्धसैनिक बल के डायरेक्टर जनरल केके शर्मा से दिल्ली में मुलाकात की। अधिकारियों के मुताबिक शर्मा ने यादव के परिवार को निष्पक्ष जांच करवाने का भरोसा दिया है। विजय ने बताया, ‘यादव की अपनी पत्नी से बात होने के बाद हमने डीआईजी से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उनसे मुलाकात नहीं हो पाई।’ यादव की पत्नी ने दावा किया था कि उसे पति ने कॉल करके बताया कि उसे धमकाया और परेशान किया जा रहा है, साथ ही बताया कि उसे गिरफ्तार किया गया है।

तेज बहादुर यादव ने कुछ वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। इन वीडियो में यादव ने खराब खाने की शिकायत की थी। इसके बाद कई जवानों के वीडियो सामने आए थे। इन इन वीडियो को लेकर काफी विवाद हुआ था। पीएमओ ने इस मामले में गृहमंत्रालय और बीएसएफ से रिपोर्ट मांगी थी। यादव ने कहा ने अपने सीनियर अधिकारों पर घपला करने का आरोप लगाया था। इसके बाद यह वीडियो वायरल हो गया था।