जम्मू-कश्मीर: आतंकियों ने की छुट्टी पर घर आए BSF जवान की हत्या

नई दिल्ली (28 सितंबर): जम्म-कश्मीर में सेना के वार से बौखलाए लश्कर के आंतकियों ने बांदीपोरा में छुट्टी पर गए बीएसएफ के जवान मोहम्मद रमजान पारे (33 वर्ष) की गोली मारकर हत्या कर दी है। मोहम्मद रमजान पारे बीएसएफ में कांस्टेबल के पद पर बारामुला में तैनात थे। उन्होंने 2011 में बीएसएफ ज्वाइन की थी। इन दिनों रमीज छुट्टी पर अपने घर आए हुए थे।

जानकारी के मुताबिक लश्कर के कुछ आतंकवादी रमजान पारे के घर पहुंचे और उन्हें बाहर आने को कहा। जब रमजान के परिजनों ने विरोध किया और उन्हें बाहर नहीं आने दिया तो आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी कर दी जिसमें बीएसएफ जवान रमजान पारे की मौत हो गई जबकि उनके परिवार के चार लोग घायल हो गए। खबरों के मुताबिक रमजान 26 अगस्त 2017 से लगातार 37 दिनों की छुट्टी पर थे। घायलों में अहमद पारे, जावेद अहमद पारे, अफजल पारे और हबला बेगम शामिल हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक रात करीब 10 बजकर 05 मिनट पर कुछ अज्ञात हथियारबंद पारे मोहल्ला हाजिन में मोहम्मद रमजान पारे (73वीं बटालियन, बीएसएफ) के घर में घुसे और उनके साथ ही साथ उनके परिवार पर अंधाधुंध गोलियां दागनी शुरू कर दीं। गोलीबारी में घायल रमजान पारे की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 4 परिजन घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए श्रीनगर हॉस्पितल ले जाया गया।

बीएसएफ ने पिछले कुछ महीनों में दो एडवाइजरी जारी कर घाटी के जवानों को घर जाने पर सावधानी बरतने को कहा था। पहली एडवाइजरी एक बीएसएफ अधधिकारी को धमकी मिलने के बाद जारी की गई थी। दूसरी एडवाइजरी लेफ्टि‍नेंट उमर फयाज की हत्या के बाद जारी हुई थी।