बहन से किया प्यार तो हाथ काटकर ले गए भाई!

अजीत, गोरखपुर (10 जनवरी): एक लड़के को गांव की ही एक लड़की से प्यार हो गया। दोनों ने साथ जीने-मरने की कसमें खाईं और घर से भाग गए। दो महीने तक उनकी तलाश होती रही। आखिरकार घरवालों को उनका पता चला। पंचायत हुई और दोनों को अलग कर दिया गया। लड़की के घरवालों ने गांव छोड़ दिया और लड़की की शादी कर दी, लेकिन 4 महीने बाद अचानक ऐसा कुछ हुआ, जिससे लड़की के भाइयों का खूल खौलने लगा। वो वापस अपनी बहन के प्रेमी के पास पहुंचे और उसका हाथ काटकर अपने साथ ले गए।

खेत में लहुलुहान पड़ा राजमन दर्द से तड़प रहा था। उसके शरीर पर जगह जगह गहरे जख्मों से खून बह रहा था और उसके जिस्म से एक हाथ गायब था। इस क्रूरता के बारे में जैसे ही गांववालों को पता चला भीड़ लग गई। तुरंत राजमन को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इस लड़के को अपनी शादीशुदा प्रेमिका को वीडियो कॉल करना बहुत महंगा पड़ गया। आरोप है कि इस लड़के का ये हाल किया है इसकी प्रेमिका के भाईयों ने। वो इसे बुरी तरह से पीटने और लहुलुहान करने के बाद इसका एक हाथ काटकर अपने साथ ले गए।

प्रेमिका के भाइयों ने एक खेत में घेरकर राजमन के शरीर पर बांस छीलने वाले औजार से हमला कर दिया। इन भाइयों को इस लड़के से इतनी नफरत थी कि वो उसके कटे हुए हाथ को भी 

अपने साथ ले गए, जिससे इलाज के दौरान उसे फिर से न जोड़ा जा सके।

मामला गोरखपुर का है। गोरखपुर के सेंदुली-बेंदुली गांव का रहने वाले राजमन को अपने ही गांव की एक लड़की से प्यार हो गया। सालभर पहले दोनों ने साथ जीने-मरने की कसमें खाई और गांव से भाग गए। करीब दो महीनों तक दोनों साथ रहे, लेकिन गांव की पंचायत, पुलिस और घरवालों के दवाब के आगे वो गांव की पंचायत में हाजिर हो गए। पंचायत ने दोनों को अलग रहने का फरमान सुना दिया। चार महीने पहले लड़की के घरवालों ने लड़की की मर्जी के खिलाफ उसकी शादी गांव से दूर कर दी। इस बदनामी के बाद पूरे घर ने गांव छोड़ दिया। लड़की के पिता, भाई सब शहर चले गए।

गांव की पंचायत के दवाब में गांव के इन दो प्रेमियों को अलग अलग तो कर दिया, लेकिन शादी के बाद भी राजमन और उसकी प्रेमिका की मोबाइल पर बातचीत बंद नहीं हुई। राजनम लड़की से मोबाइल पर में बात करता, दोनों वीडियो कॉल भी करते। एक दिन लड़की के पति ने उसे वीडियो कॉल के जरिए राजमन से बातचीत करते देख लिया और इसकी शिकायत लड़की के भाइयों से कर दी। दूसरे शहर में रहकर काम करने वाले पिता रामहित और 3 भाई कमलेश, उमेश और नीलेश आग बबूला हो गए। वो अपनी बहन के प्रेमी को सबक सिखाने का इरादा बनाकर गांव वापस आ गए।

जिस बेदर्दी से लड़की के भाईयों ने राजमन पर हमला किया, उससे साफ है कि उनका इरादा आरोपी को मारना नहीं था बल्कि नफरत इतनी थी कि वो उसे जिंदगी भर के लिए तड़पाना चाहते थे। वो राजमन का पीछा करने लगे और सोमवार की सुबह जब राजमन खेत की ओर अकेले गया। उस पर हमला बोल दिया। उसके हाथ, पैर और शरीर के हर हिस्से को लहुलुहान कर दिया और उसका बांया हाथ कुहनी से काटकर फरार हो गए। आरोपियों के खिलाफ धारा 326, 307 और 201 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है।