ब्रिटेन से पैसा मिला गरीबों के लिए लूट लिया 'अमीरों' ने

नई दिल्ली (13 जनवरी): ब्रिटेन की सरकार के सहायता कार्यक्रम के तहत पाकिस्तान की दी राशि का एक बड़ा हिस्सा वहां के सबसे गरीब लोगों तक नहीं पहुंचा। सहायता राशि की छानबीन करने वाली संस्था ‘इंडिपेंडेंट कमिशन फॉर एड इम्पैक्ट’ आईसीएआई सरकार के अंतरराष्ट्रीय विकास विभाग के नगदी अंतरण कार्यक्रम की समीक्षा करने के बाद इस निष्कर्ष तक पहुंची है कि पाकिस्तान में मदद वालों का एक हिस्सा ऐसा है जो गरीबी रेखा के ऊपर जीवन यापन करता है।

रिपोर्ट में कहा गया है, ‘सबसे बड़ी गलती पाकिस्तान में देखने को मिली है जहां इस कार्यक्रम का मकसद सबसे गरीब 25 फीसदी आबादी तक मदद पहुंचाने का है लेकिन विश्व बैंक ने पाया कि मदद वालों में एक तिहाई लोग गरीबी नहीं थे। ब्रिटेन ने 2012-20 की अवधि के लिए पाकिस्तानी सरकार की बेनजीर आय सहयोग कार्यक्रम के तहत 30 करोड़ पाउंड की मदद आवंटित की है जिसका मकसद सबसे गरीब परिवारों तक नकद सहायता राशि पहुंचाना है।