ब्रेक्जिट पर दोबारा जनमत संग्रह की ऑन लाइन याचिका खारिज

नई दिल्ली (9 जून): ब्रिटेन की सरकार ने यूरोपीय संघ की सदस्यता के प्रश्न पर दुबारा जनमत संग्रह कराने की 41 लाख लोगों के हस्ताक्षर वाली ऑनलाइन याचिका को, अस्वीकार कर दिया। ब्रिटेन ने 23 जून को यूरोपीय संघ से अलग होने के प्रश्न पर जनमत संग्रह कराया था और उसमें 48 के विरूद्ध 52 प्रतिशत लोगों ने अलग होने के पक्ष में मत दिया था।

इस जनमत संग्रह के बाद राजनीतिक नेताओं के एक वर्ग ने जहाँ फैसले को स्वीकार करने की सलाह दी थी वहीं दूसरे वर्ग ने इसे अस्वीकृत कर देने की बात कही। इस जनमत संग्रह का वैधानिकता पर भी सवाल उठाए गए थे। इसी के साथ लोगों ने कहा था कि नया जनमत संग्रह करवाया जाये।  और अगर 70 फीसदी लोग यूरोपीय यूनियन से अलग होने की राय दें तभी यूरोपीय यूनियन से अलग होने का फैसला लिया जाये। ब्रिटेन में प्रावधान है कि जिस ऑन लाइन याचिका पर दस लाख लोगों के हस्ताक्षर होते हैं, उस याचिका पर संसद में बहस हो सकती है।