कारगिल की जंग में शामिल थे चीनी सैनिक: पूर्व ब्रिगेडियर का दावा

नई दिल्ली(26 जुलाई): क्या 1999 कारगिल युद्ध में चीन ने पाकिस्तान की मदद की थी। युद्ध के समय कारगिल में 121 ब्रिगेड के कमांडर रहे ब्रेगिडियर सुरिंदर सिंह की माने को हां चीन ने पाकिस्तान की मदद की थी। बता दें कि भारत और पाकिस्तान का यह युद्ध 26 जुलाई 1999 को खत्म हुआ था। हालांकि उस वक्त ड्यूटी पर तैनात अफसरों ने ब्रिगेडियर के दावों को खारिज किया था। 

- अफसरों ने कहा था कि ऐसा पहली बार कोई कह रहा है कि कारगिल में चीन की संलिप्तता भी थी।

- सेना के पश्चिमी कमांज के पूर्व प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल केजे सिंह ने कहा कि चीनी संलिपत्ता नहीं हो सकती है। अगर पाकिस्तान भारत के साथ कुछ शुरू करता है तो चीन उसमें तुरंत नहीं कूदेगा। हालांकि चीन अगर ऐसा कुछ करता है तो पाकिस्तान जरूर फायदा लेगा। 

- एक अन्य सेवानिवृत्त सैन्य कर्मी ने कहा कि कारगिल के दौरान चीन कूटनीटिक तरीके से संतुलित रहा।

- ब्रिगेडियर सिंह की ओर से तैयार की गई रिपोर्ट के अनुसार सेक्टर में होवित्जर बंदूके चीनी सैनिकों ने लगाया। इस रिपोर्ट को तत्कालीन सेनाध्यक्ष जनरल वीपी मलिक को दिखाए जाने के लिए तैयार किया गया था। ब्रीफ में बताया गया है कि कारगिल इलाके में अजीबो गरीब हरकत हो रही थी।

- रिपोर्ट के अनुसार खुद ब्रिगेडियर सिंह ने कहा कि सौभाग्य से सब कुछ रिपोर्ट में है जो स्पष्ट रूप से बताता है कि मैंने संभावित हमले की सूचना मुहैया कराई थी। दुर्भाग्य से हर इनपुट और सूचना को दरकिनार कर दिया गया।