पाकिस्तान के बहाने BRICS में चीन को ऐसे घेरेगा भारत

नई दिल्ली (1 सितंबर): डोकलाम के बाद एकबार फिर भारत चीन को घेरने की तैयारी में है। चीन के शियामेन में 3-5 सितंबर को ब्रिक्स देशों का सम्मेलन होने जा रहा है। चीन की मनाही के बावजूद भारत ने साफ कर दिया है वो पाकिस्तानी आतंकवाद के मुद्दे पर अपना पक्ष जरूर रखेगा। इससे पहले गुरुवार को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चिनयिंग ने इशारों में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सम्मेलन में पाकिस्तानी आतंकवाद का मुद्दा ना उठाएं।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चिनयिंग ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ किए जा रहे प्रयासों में इस्लामाबाद अग्रिम मोर्चे पर है और उसने इस कार्य में कई कुर्बानियां भी दी हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को पाकिस्तान के योगदान और कुर्बानियों को स्वीकार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने देखा है कि जब भी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान की चर्चा होती है तो इस मसले पर भारत की अपनी कुछ चिंताएं हैं। लेकिन मुझे नहीं लगता कि ब्रिक्स सम्मेलन में चर्चा के लिए यह एक उचित विषय है।

आपको बता दें कि ब्रिक्स के चार्टर में ये साफ लिखा गया है कि दुनिया की समृद्धि के लिए वैश्विक स्तर पर आतंकवाद फैलाने वालों के खिलाफ साझा कार्रवाई की जरूरत है। लेकिन पिछले साल गोवा में ब्रिक्स सम्मेलन में पाकिस्तान की भूमिका पर चीन खामोश रहा। मेजबान देश होने की वजह से भारत भी कुछ खास दबाव नहीं बना पाया। लेकिन इस दफा हालात बदले हुए हैं।