139 साल के क्रिकेट इतिहास में इस खिलाड़ी ने किया बड़ा कारनामा, ब्रैडमेन से भी आगे निकला

वैलिंग्टन (12 फरवरी): शुक्रवार का दिन क्रिकेट इतिहास में सबसे यादगार दिन बन गया। वैलिंग्टन क्रिकेट मैदान पर टॉस के लिए उतरने के साथ ही न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैक्कुलम ने एक ऐसा इतिहास रच दिया जो क्रिकेट जगत में और कोई खिलाड़ी कभी नहीं कर पाया। टेस्ट क्रिकेट के 139 साल के इतिहास में न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रेंडन मैकुलम डेब्यू से लगातार 100 टेस्ट खेलने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं।

हालांकि आज न्यूज़ीलैंड के कप्तान और कोई भी अन्य बल्लेबाज़ कोई खास कमाल नहीं कर पाया और उनकी पूरी टीम टॉस हारकर 183 रन के योग पर ऑल-आउट हो गई। जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम को भी जल्द ही शुरूआती झटके लग गए।

34 साल के मैकुलम 9 मार्च 2004 को साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहला टेस्ट खेलने उतरे थे। इसके बाद बिना कोई मैच गंवाए उन्होंने 99 का आंकड़ा पार कर लिया। न्यूजीलैंड के एक मात्र तिहरा शतक लगाने वाले इस बल्लेबाज ने मैच से पहले कहा कि जब अपने करियर को पीछे मुड़ के देखता हूं तो एक अलग सा अहसास होता है। मुझे इस पर गर्व होता है कि बिना चोटिल हुए बिना थके लगातार 100 टेस्ट खेल पाया।

सीरीज में दो टेस्ट मैच खेले जाएंगे जिसके बाद मैकुलम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से पूरी तरह दूर हो जाएंगे। मैकुलम की चाहत सीरीज जीतकर क्रिकेट को अलविदा कहने की होगी। मैकुलम ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया को हराकर विदा लेना अच्छा होगा। अपने घरेलू मैदान पर ऐसा करना और भी खास होगा। अपना 100वां और आखिरी टेस्ट अपने मैदान पर खेलना बहुत खास है।

  मैकुलम का टेस्ट करियर – मैच – 99, पारी – 172, रन – 6273, सर्वोच्च स्कोर – 302, औसत – 38.48, स्ट्राइक रेट -63.71, शतक – 11, अर्द्धशतक – 31।