सूडान में रोटी के लिए भड़की हिंसा, 19 लोगों की मौत, 219 घायल

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (28 दिसंबर): सूडान में रोटी की कीमतों में हुई वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों और सूडान की दंगा-रोधी पुलिस के बीच हुई झड़पों में 19 लोग मारे गए हैं। सरकार ने गुरुवार को बताया कि मरने वालों में दो सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं।सरकारी प्रवक्ता बोशरा जुमा ने टीवी पर बताया कि घटनाओं में दो सुरक्षाकर्मियों सहित 19 लोग मारे गए हैं। 219 लोग घायल हुए हैं।सरकार ने इस सप्‍ताह की शुरुआत में रोटी की कीमत एक सूडानी पाउंड (0.02 डॉलर यानी करीब 1.41 रुपये) से बढ़ाकर तीन सूडानी पाउंड (0.063 डॉलर यानी 4.43 रुपये) करने की घोषणा की थी। सूडान में भुखमरी एक बड़ी समस्या है। इसके साथ ही देश में ईंधन की कीमत भी दोगुनी किए जाने की चर्चा है, जिससे लोगों को बेहद रोष है। यहां बुधवार से ही सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं।

इससे पहले सरकार विरोधी प्रदर्शन गुरुवार को सूडान की राजधानी खार्तुम तक पहुंच गया था, जहां राष्ट्रपति भवन के पास भारी भीड़ एकत्र हो गई थी। यहां भीड़ को तितर-बितर करने के लिए दंगा-रोधी पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे, जिसमें कई लोग घायल हो गए थे। सबसे अधिक हिंसक प्रदर्शन सूडान के शहर अल-कदरीफ में हुए यहां बेकाबू हालात को देखते हुए इमरजेंसी लगा दी गई थी।

बता दें की,पिछले साल, सूडान में कुछ वस्तुओं की कीमत दोगुना हो गई है, जहां मुद्रास्फीति (महंगाई) 70 प्रतिशत के करीब चल रही है और पाउंड मूल्य में भी गिरावट आई है। इस साल जनवरी में भी भोजन की बढ़ती कीमत पर विरोध प्रदर्शन हुआ था, लेकिन जल्द ही विपक्षी नेताओं और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के साथ उन्हें नियंत्रण में ले लिया गया। दरअसल सूडान के पास महत्वपूर्ण तेल भंडार था जब तक कि दक्षिण सूडान ने 2011 में आजादी हासिल नहीं कर ली थी,विभाजन से देश ने तीन तेल भंडार खो दिए।