जांबाज कोच ने अपनी जान देकर चौकीदार की बेटी की जान बचाई

नई दिल्ली (21 अगस्त): सतना के मैहर में राज्य स्तरीय खिलाड़ी और कोच ने अपनी जान दे कर एक बच्ची की जान बचायी। इस जांबाज खिलाड़ी का नाम बब्लू मार्टिन था।  

- मैहर हाउसिंग बोर्ड की ढहती तीन इमारत की चपेट में एक चौकीदार की 12 साल की बेटी लगभग आ चुकी थी।   - इससे पहले की इमारत का मलबा बच्ची के ऊपर गिरता, बबलू ने दौड़ कर बच्ची को इमारत से दूर धकेल दिया। लेकिन वे खुद मलबे की चपेट में आ गये।

- इमारत ढहने के बाद फुटबालर गर्दन तक पानी, कीचड़ और मलबे में धंसे हुए थे।

- वहां मौजूद लोगों ने सब्बलों से उनके आस-पास का मलबा हटाया। इस दौरान वे कुछ बोल नहीं पा रहे थे पर उनकी आंखें लगातार लोगों को निहार रही थीं। 

- वहां मौजूद लोग भी बबलू का नाम बुलाकर लगातार उन्हें हौसला दे रहे थे।  - काफी मशक्कत के बाद किसी तरह बब्लू को निकालकर मैहर के एक अस्पताल ले जाया गया। 

- वहां से बब्लू को सतना रेफर कर दिया गया। सतना ले जाते हुए रास्ते में ही इस बहादुर खिलाड़ी की मौत हो गयी।