जिहाद नहीं, सेक्स स्लेव्स के लिए आईएसआईएस में भर्ती हो रहे हैं लड़के

नई दिल्ली (10 अक्टूबर): भारत से आईएसआईएस में भर्ती होने वाले युवाओं के बार में महाराष्ट्र एटीएस ने बड़ा खुलासा किया है। एटीएस को पता चला है कि भारत के अधिकांश युवक कथित जिहाद के लिए नहीं बल्कि सेक्स स्लेव्स के लिए आईएसआईएस में शामिल हो रहे हैं। एटीएस ने यह खुलासा बीते दिनों आईएसआईएस से संबंध रखने के लिए गिरफ्तार किये गए नासिर उर्फ़ कादिर बिन अबू बकर बनाम चाउश से पूछताछ के बाद किया है।

एटीएस के अनुसार, नासिर ने ने कहा है कि उसने जिहाद के लिए नहीं बल्कि सेक्स स्लेव की चाहत के चलते आतंकी संगठन जॉइन किया था। तीन हज़ार से ज्यादा पेज की चार्जशीट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि नासिर ने हैंडलर से भी चैट के जरिए इस बात में जानकारी हासिल की थी। नासिर ने हैंडलर से संपर्क साधने के लिए कई ईमेल आईडी भी क्रियेट की थीं।

एटीएस का कहना है कि उन्होंने भी आईएसआईएस के हैंडलर और नासिर के बीच हुई सारी बातचीत की जांच की है जिसमें ये पाया गया है कि उसका कुबूलनाम काफी हद तक ठीक है। नासिर से हैंडलर ने इन लड़कियों की उम्र, देश और कई अन्य जानकारियां साझा करने के लिए भी कहा था। नासिर की ऑनलाइन सर्च हिस्ट्री से भी इस बात का पता चला है कि वो इंटरनेट पर काफी देर तक सेक्स स्लेव से जुड़ी जानकारियां सर्च करता रहता था।