जुकरबर्ग से भी 'स्मार्ट' निकला ये भारतीय स्टूडेंट

 

कोच्चि (16 अप्रैल) : क्या आप सोच सकते हैं कि फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग को कोच्चि के एक स्टूडेंट से गुहार लगानी पड़ी। मार्क के दिमाग का लोहा पूरी दुनिया मानती है। लेकिन कोच्चि के स्टूडेंट ने एक मामले में मार्क को भी मात दे दी। दरअसल मार्क को अपनी बेटी के नाम पर आधारित डोमेन नेम खरीदने के लिए कोच्चि के इंजीनियरिंग स्टूडेंट अमल अगस्टाइन से संपर्क करना पड़ा। इतना ही नहीं फेसबुक ने डोमेन नेम के लिए अगस्टाइन को 700 डॉलर यानि लगभग 46,665 रुपए का भुगतान भी किया।  

 कौन है अमल अगस्टाइन? अमल अगस्टाइन कोच्चि के केएमईए इंजीनियरिंग कॉलेज के फाइनल ईयर में पढ़ता है। उसके पास maxchanzuckerberg.org नाम का डोमेन था। बता दें कि नवंबर में मार्क के घर पर बेटी का जन्म हुआ था। मार्क और उनकी पत्नी प्रिसिला चान ने बेटी का नाम मैक्स चान रखा। अगस्टाइन ने पिछले साल दिसंबर में ही उनकी बेटी के नाम से मिलता जुलता maxchanzuckerberg.org नाम का एक डोमेन बुक करवा लिया था। जब फेसबुक को यह पता चला कि उनकी बेटी के नाम से मिलता जुलता डोमेन अगस्टाइन के नाम से दर्ज है। तब फेसबुक ने अगस्टाइन से संपर्क कर डोमेन नेम को खरीदने की बात की।

 

अगस्टाइन ने 700 डॉलर की ही मांग की थी

अगस्टाइन के मुताबिक उन्हें इंटरनेट डोमेन रजिस्ट्री और वेब होस्टिंग कंपनी गोडेडी से एक ईमेल मिला था। इसमें लिखा गया था कि क्या वे यह डोमेन बेचना को तैयार हैं और हां तो इसकी प्राइस क्या होगी?'  'जवाब में अगस्टाइन ने हां लिखा और 700 डॉलर की मांग की।' इस पर जवाबी ईमेल के जरिए आइकॉनिक कैपिटल कंपनी की मैनेजर सारा चैपल ने इस रकम पर अपनी सहमति दी। सारा चैपल ही जुकरबर्ग का फाइनेंस मामले देखती है।