शर्तें मानने से किया इनकार, बॉस ने चबा लिए एंप्लायी के होंठ

लखनऊ(21 जनवरी): एंप्लॉयीज और बॉस के रिश्ते को लेकर आम जीवन में हमेशा चर्चा होती है। लेकिन ये रिश्ता और भी खतरनाक हो गया जब एक बॉस ने अपनी एंंप्लॉयी क होठ चबा लिए। 

गुड़गांव की एक प्राइवेट कम्पनी की ओर से ट्रेनिंग के लिए लखनऊ आई युवती ने जब अपने बॉस की शर्तें मानने से इनकार किया तो बॉस ने उसके होंठ ही चबा लिए। पीड़िता वाराणसी की है और जॉब के मकसद से गुड़गांव गई थी। वहां मानेसर की एक टेलिकॉम कंपनी में उसका सिलेक्शन हुआ और इसके बाद उसे ट्रेनिंग के लिए उसे लखनऊ भेज दिया गया।

युवती के मुताबिक बॉस ने उसे प्रमोशन का लालच देकर अपनी शर्तें मनवाने की कोशिश की लेकिन जब उसने इनकार किया तो वह बदतमीजी पर उतर आया। युवती ने आरोप लगाया है कि वह शराब पीकर उसके गेस्ट हाउस में घुस आया, दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुआ और नशे की हालत में ही उसके होंठ चबा लिए। पीड़िता ने विभूतिखंड थाने में इसकी शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने आरोपी बॉस के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

आरोपी बॉस का नाम गौरव कटियार है। युवती द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक उसे 22 अक्टूबर को 10 दिनों की ट्रेनिंग के लिए लखनऊ भेजा गया था। 10 दिनों के बाद भी ट्रेनिंग पीरियड बढ़ाकर उसे लखनऊ में ही रखा गया। वहां वह विभूतिखंड में कम्पनी के गेस्ट हाउस में रह रही थी और उसका बॉस भी पड़ोस में ही रहता था। पीड़िता का आरोप है कि गौरव उसे काम के बहाने अपने फ्लैट पर बुलाने लगा। इतना ही नहीं उसने अपनी बर्थडे पार्टी में उसे जूस में शराब मिलाकर पिलाने की कोशिश भी की।

युवती ने बताया कि मुझे प्रताड़ित करने में ऑफिस के दूसरे कर्मचारियों ने भी गौरव का साथ दिया। जब मैंने उसकी शर्तें नहीं मानी तो वह मेरे गेस्ट हाउस का दरवाजा तोड़कर अंदर आ गया। उसने नशे की हालत में मेरे होंठ चबा लिए। मैं लहूलुहान हो गई और चीखने चिल्लाने लगी लेकिन बगल में चल रही एक पार्टी की वजह से मेरी चीख लोगों तक पहुंच नहीं पाई।' इसके बाद ऑफिस के कुछ कर्मचारी वहां आए और युवती को हॉस्पिटल ले गए। वहां से उन्होंने 1090 नंबर पर कॉल किया तो उन्हें 100 नंबर पर कॉल करने को कहा गया।

100 नंबर पर कॉल करने पर पुलिस आई और उन्हें विभूतिखंड थाने ले गई। वहां पुलिस ने युवती की शिकायत के आधार पर गौरव पर केस दर्ज कर लिया। आरोप है कि पुलिस गौरव को थाने तो ले आई थी लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया गया। वहीं, विभूतिखंड के एसओ संत्येद्र कुमार राय का कहना है कि गौरव कटियार के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। युवती के बयान दर्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। आरोपित को हिरासत में लेकर छोड़े जाने का आरोप गलत है।

महिला सम्मान प्रकोष्ठ के पीआरओ सत्या सिंह ने कहा कि युवती ने अर्जी दी है। उसने आरोपी पर अभद्रता करने समेत कई गंभीर आरोप लगाए हैं। पुलिस पर भी आरोपित को छोड़ने का आरोप लगाया है। इस मामले की जांच की जाएगी।